70 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं समर्थन मूल्य पर खरीदेगी सरकार

0
649
wheat selling at MSP

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद

देश के विभिन्न जिलों में बेमौसम हुई बारिश एवं ओलावृष्टि से 10 से 70 प्रतिशत तक खराब हुये चमकहीन गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिये केन्द्र सरकार ने अनुमति प्रदान कर दी है। केन्द्र सरकार द्वारा बांसवाड़ा जिले के लिये 10 प्रतिशत तक, चित्तौड़गढ़ व राजसमन्द जिलों के लिये 50 प्रतिशत तक तथा झालावाड़, सवाईमाधोपुर, अलवर, भरतपुर व उदयपुर जिलों के लिये 70 प्रतिशत तक चमकहीन गेहूं की खरीद के लिये अनुमति प्रदान की है। राजस्थान के इन जिलों के खरीद केन्द्रों पर प्राप्त अनुमति के अनुसार चमकहीन गेहॅू की खरीद शुरू कर दी गई है।

क्या है मामला 

बेमौसम बारिश से प्रभावित जिलों के किसानों को राहत देने के लिये केन्द्र सरकार ने भारतीय खाद्य निगम व राज्य सरकार के प्रतिनिधियों के सहयोग से खरीद केन्द्रों पर आ रहे गेहूं का सेम्पल सर्वे करवाया था। कोटा संभाग में 15 मार्च से तथा प्रदेश के अन्य संभागों में एक अप्रेल से किसानों से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद की जा रही है।

यह भी पढ़ें   सूखा प्रभावित प्रत्येक किसान को मिलेगा 13,800 रुपये तक का मुआबजा

किसानों की समस्या को देखते हुए फसल पर गुणात्मक एवं मात्रात्मक क्षति से भारत सरकार को अवगत कराया गया था और उसमें निर्धारित गुणवत्ता मापदण्ड में गेहूं की चमक को हटाने या अधिकतम रियायत प्रदान करने की अनुमति देने का आग्रह किया गया था। जिसके क्रम में सरकार ने किसानों की प्राकृतिक आपदा की स्थिति में कठिनाइयों को कम करने तथा संकट की स्थिति में औने पौने दामों में उपज की बिक्री को रोकने के लिहाज से यह निर्णय किया गया है।

 

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.