प्रदेश में गुण नियंत्रण तथा परीक्षण प्रयोग शालाएं

प्रदेश में गुण नियंत्रण तथा परीक्षण प्रयोगशालाए

महत्व यह है

फसल उत्पादन में प्रयोग किये जाने वाले कृषि रसायन जैसे उर्वरक , बीज और कीटनाशक आदि महंगे कृषि आदान है | उत्पादन वृद्धि के लिये इनकी मात्रा निशिचत होती है | यदि यह शुद्ध न हों या मानक स्तर के न हों तो किसानों को इनसे लाभ की जगह हानि हो सकती है | इसलिये निजी स्रोत तथा सहकारिता के माध्यम से किसानों को उपलब्ध होने वाले कृषि रसायनों का परीक्षण, अधिकृत विभागीय प्रयोगशालाओं में किया जाता है |

इस तरह किया जाता है

किसानों को गुणवक्ता पूर्ण आदान सामग्री उपलब्ध कराने के लिये उर्वरक, बीज तथा कीटनाशक रसायन गुण नियंत्रण प्रयोगशालाएं संचालित हैं | विभागीय आदान निरीक्षकों द्वारा संकलित किये गये नमूनों का परिक्षण इस प्रयोगशालाओं में कर आदानों की गुणवत्ता की परख की जाति है | अमानक पाये गये नमूनों के प्रकरणों से संबंधित विरुद्ध विभिन्न अधिनियमों में निहित प्रावधानों के तहत कार्यवाही की जाती है |

प्रयोगशालाएं यहाँ है

  • उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला – भोपाल , इंदौर , जबलपुर , ग्वालियर |
  • बीज परीक्षण प्रयोगशाला – ग्वालियर |
  • कीट नियंत्रण प्रयोगशाला – जबलपुर में स्थापित है तथा परीक्षण की सुविधा संभाग स्तर पर उपलब्ध करने हेतु प्रदेश के सभी 10 संभागों में बीज एवं उर्वरक प्रयोगशालाओं की स्थापना प्रक्रियाधीन है |
Source:  किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग मध्यप्रदेश
kisan samadhan android app