राज्य में धान की सरकारी खरीद खत्म, किसानों को अब बोनस का इन्तजार

3
14564
dhan ki kharid cg

समर्थन मूल्य पर किसानों से धान की खरीद

खरीफ वर्ष 2019–20 की सरकारी खरीदी बहुत से राज्यों में चल रही है परन्तु कई राज्यों में पूरी हो चूकी है | खरीफ मौसम में धान एक महत्वपूर्ण फसल है जिसका उत्पादन तथा खरीदी भी ज्यादा होती है | छत्तीसगढ़ राज्य में वर्ष 2019–20 में खरीफ फसल के लिए धान की खरीदी पूरी कर ली गई है | हालाकि अभी भी बहुत से किसान धान खरीदी बंद होने से नाराज हैं | इसको लेकर राज्य में जगह-जगह किसान आन्दोलन भी कर रहे हैं | धान खरीदी का पूरा ब्यौरा इस प्रकार रहा है :-

धान की सरकारी खरीद

छत्तीसगढ़ राज्य में इस वर्ष ज्यादा किसानों द्वारा पंजीयन करने के फलस्वरूप धान बेचने की अवधि को 5 दिन और बढ़ाकर 20 फरवरी तक कर दिया गया था | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों से 2500 रूपये प्रति क्विंटल के हिसाब से एक दिसम्बर 2019 से 15 फरवरी 2020 तक धान खरीदने का निर्णय लिया गया था | इस वर्ष धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1,815 रूपये प्रति क्विंटल था | इसके ऊपर धान पर बोनस देकर छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने 25,00 रूपये प्रति किन्टल खरीदने का निर्णय लिया था | यहाँ पर यह ध्यान रखना होगा कि बोनस राशि अभी को नहीं दी गई है | बोनस पर अभी तक फैसला भी नहीं लिया गया है |

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने बजट में किसानों के लिए खोला खजाना

राज्य में कूल धान की खरीद

छत्तीसगढ़ प्रदेश में इस साल खरीदे गए धान का 14 हजार 500 करोड़ रूपये से ज्यादा का भुगतान किसानों को सीधे उनके बैंक खातों में किया जा चूका है | प्रदेश की समितियों में किसानों को चौथा टोकन भी जारी किया गया है और चौथा टोकन पर 3.5 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है | गत वर्ष 2018-19 में कुल 15 लाख 71 हजार किसनों ने धान बेचा था, जबकि इस साल अब तक 18 लाख 45 हजार किसानों से धान खरीदी गई हैं |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here