back to top
28.6 C
Bhopal
सोमवार, जून 24, 2024
होमकिसान समाचारजैविक उत्पादों की खरीद बिक्री के लिए सरकार ने विकसित किया...

जैविक उत्पादों की खरीद बिक्री के लिए सरकार ने विकसित किया मोबाइल एप विकसित किया

जैविक फसल बेचने के लिए मोबाइल एप

खाद्य पदार्थों में शुद्धता बनाए रखने के लिए तथा पोषक तत्वों की उपयोगिता बने रहे इसके लिए देश भर में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है | जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए केंद्र तथा राज्य सरकारें विभिन्न प्रकार की योजनायें चला रही है | सरकार के प्रयासों तथा किसान की मेहनत के कारण देश भर में जैविक उत्पादन को बढ़ावा मिला है |अब देश भर में जैविक उत्पाद में काफी बढ़ोतरी हो गई है लेकिन किसानों के इन जैविक उत्पाद के लिए किसी भी प्रकार का बाजार नहीं है | जिसके कारण किसान को जैविक उत्पाद पर अच्छी कीमत नहीं मिल पाता है |

इसको ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने राज्य के किसानों के लिए जैविक मोबाइल एप की शुरुआत की है | यह जैविक मोबाइल एप ‘राज किसान जैविक’ के नाम से हैं | इसके तहत किसान तथा व्यापारी जुड़कर अपना उत्पाद खरीद या बेच सकते हैं | राज्य में अभी 20 हजार से अधिक किसान जैविक प्रमाणीकरण संस्था से जुड़े हुए हैं | इसमें से 90 प्रतिशत लोगों के पास जैविक प्रमाणीकरण है | अभी तक राज्य किसान जैविक एप पर 160 किसान तथा 29 खरीददारों ने पंजीयन कराया है |

किसान अपनी जैविक फसल बेचने के लिए इस तरह करें पंजीयन

कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री भास्कर ए. सावंत ने पंजीकरण प्रक्रिया की जानकारी देते हुए बताया कि किसान गूगल प्ले स्टोर से ‘राज किसान जैविक’ मोबाईल एप डाऊनलोड कर विक्रेता के रूप में पंजीकरण करा सकते हैं | इसके लिए उन्हें विक्रेता पंजीकरण बटन पर क्लिक करना होगा | इसके बाद एकल या समूह में खेती करने वाले कृषक द्वारा अपनी श्रेणी का चयन कर आधार नंबर दर्ज करना होगा | जिसके पश्चात् मोबाईल पर प्राप्त ओटिपी (OTP) सत्यापित करना होगा | इसके बाद किसान एवं पिता का नाम, गाँव आदि सभी विवरण अपने आप दर्ज हो जाएगा | तत्पश्चात किसान को जमा करें बटन पर क्लिक करना होगा | इस प्रकार किसान के मोबाईल एप पर पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी |

यह भी पढ़ें   किसान यहाँ से ऑनलाइन ऑर्डर करें धान की उन्नत किस्म पूसा बासमती PB 1692 के बीज

खरीददारों ऐसे करें अपना पंजीयन

खरीददार व्यापारी पंजीकरण के लिए क्रेता पंजीकरण बटन पर क्लिक करके और अपना आधार नंबर दर्ज करके इसे ओटीपी द्वारा सत्यापित करेंगे | इससे आधार में दर्ज विवरण के अनुसार उपयोगकर्ता एवं पिता का नाम, मोबाईल नंबर आदि आप एप में दर्ज हो जाएगा | खरीददार को भी ‘जमा करें’ बटन पर क्लिक करना होगा | इस तरह क्रेता और विक्रेता दोनों का पंजीकरण आसानी से इस मोबाईल एप पर हो जाएंगे |

प्रमाणीकरण संस्था से होगा अनुमोदन

कृषि विभाग के आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि बाद जैविक खेती करने वाले किसान को इस मोबाईल एप के माध्यम से प्रमाणीकरण संस्था द्वारा जारी प्रमाण पत्र की फोटो लेनी होगी और उससे संबंधित वैधता विवरण तथा प्रमाणित करने वाली एजेंसी का नाम दर्ज करना होगा | इसके बाद ‘जमा बटन’ पर क्लिक करने पर प्रमाण पत्र मोबाईल एप में अपलोड हो जाएगा जिसका अनुमोदन संबंधित प्रमाणीकरण संस्था द्वारा किया जाएगा |

यह भी पढ़ें   गर्मी में पशुओं को लू से बचाने के लिए इस तरह करें देखभाल

क्रेता – विक्रेता फोन पर कर सकेंगे मोल भाव

प्रमाणीकरण संस्था के अनुमोदन के बाद किसान इस मोबाईल एप में जैविक कृषि योग्य भूमि का विवरण फसल का नाम, बिक्री योग्य उपज तथा जैविक फसल का रकबा आदि दर्ज कर सकेंगे | इस मोबाईल एप में यह भी सुविधा दी गई है कि किसान अपनी उपज की बिक्री दर भी इसमें दर्ज कर सकेगा | किसान द्वारा जैविक उपज के बारे में दिया गया समस्त विवरण इस मोबाईल एम में पंजीकृत वाले किसान तथा उसके खरीददार के बीच आपसी समन्वय और मोलभाव करने के लिए यह बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म है |

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर