सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान,कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन और डेयरी सहकारी समिति को दिया गया 5 लाख रुपये का गोपाल रत्न पुरस्कार

गोपाल रत्न पुरस्कार 2021

राष्ट्रीय दुग्ध दिवस 26 नवंबर 2021 के दिन पशुपालन और डेयरी विभाग, भारत सरकार द्वारा भारत के मिल्क मैन डॉ. वर्गीस कुरियन की जन्म शताब्दी के अवसर पर एक मेगा कार्यक्रम का आयोजन किया गया | इस समारोह के दौरान केंद्रीय पशुपालन और डेयरी मंत्री, श्री पुरुषोत्तम रूपला देशी गाय/भैंस की नस्लों को पालने वाले सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान विजेता, सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन (एआईटी) और सर्वश्रेष्ठ डेयरी सहकारी/ दुग्ध उत्पादक कंपनी/ डेयरी किसान उत्पादक संगठन के विजेताओं को राष्ट्रीय गोपाल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया|

पशुपालन और डेयरी विभाग द्वारा स्वदेशी गोजातीय नस्लों के संरक्षण और विकास के उद्देश्य से वर्ष 2014 में राष्ट्रीय गोजातीय प्रजनन और डेयरी विकास कार्यक्रम के तहत “राष्ट्रीय गोकुल मिशन” की शुरूआत की गई थी। इस कार्यक्रम का उद्देश्य पशुओं और भैंसों का आनुवांशिक सुधार करना है। योजना के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सरकार द्वारा डेयरी क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले किसानों, कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियनों और डेयरी समितियों को प्रोत्साहित करने के लिए गोपाल रत्न पुरस्कार दिया जाता है |

क्या है गोपाल रत्न पुरस्कार

- Advertisement -

गोपाल रत्न पुरस्कार पशुधन और डेयरी क्षेत्र में सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कारों में से एक है, जिसका उद्देश्य सभी व्यक्तियों और डेयरी सहकारी समितियों/ दुग्ध उत्पादक कंपनी/ डेयरी किसान उत्पादक संगठनों को प्रोत्साहित करने के लिए दिया जाता है | इसमें विभाग द्वारा अलग-अलग श्रेणी का निर्धारण किया गया है, यह श्रेणियां इस प्रकार है:-

  1. देशी गाय/भैंस की नस्लों को पालने वाले सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान,
  2. सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन (एआईटी) और
  3. सर्वश्रेष्ठ डेयरी सहकारी/ दुग्ध उत्पादक कंपनी/ डेयरी किसान उत्पादक संघ |

पुरस्कार में क्या दिया गया ?

ऊपर दी गई श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ व्यक्तियों का चुनाव देश भर से किया गया | इस वर्ष सरकार द्वारा पुरस्कार वितरण के लिए इच्छुक व्यक्तियों से ऑनलाइन आवेदन पोर्टल https://gopalratnaaward.qcin.org के माध्यम से 15/07/2021 से 15/09/2021 तक आवेदन आमंत्रित किए गए थे। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 15/10/2021 तक कर दिया गया था । कुल मिलाकर ऑनलाइन माध्यम से 4,401 आवेदन प्राप्त हुए। प्राप्त आवेदनों में से सर्वश्रेष्ठ व्यक्तियों का चयन कर उन्हें प्रत्येक श्रेणी में पुरस्कार के रूप में योग्यता प्रमाण पत्र, एक स्मृति चिन्ह एवं राशि प्रदान की गई जो इस प्रकार है:-

  1. 5,00,000 रुपये (पांच लाख रुपये) – प्रथम स्थान
  2. 3,00,000 रुपये (तीन लाख रुपये) – द्वितीय स्थान और
  3. 2,00,000 रुपये (दो लाख रुपये) – तीसरे स्थान के लिए

वर्ष 2021 के लिए इन्हें दिया गया गोपाल रत्न पुरस्कार

श्रेणी
प्रथमद्वितीय और तृतीय स्थानों के साथ गोपाल रत्नों के नाम
- Advertisement -

देशी गाय/भैंस की नस्लों को पालने वाले सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान

  1. प्रथम श्री सुरेंद्र अवाना, जयपुर राजस्थान
  2. द्वितीय श्रीमती रेशमी एडाथानल, कोट्टायम, केरल
  3. तृतीय श्रीमती राजपूत मोधीबेन वर्धमानसिंह, बनासकांठा, गुजरात एवं श्रीमती माधुरी, राजनांदगांव, छत्तीसगढ़

सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन (एआईटी)

  1. प्रथम श्री रामा रावकरी, आंध्र प्रदेश
  2. द्वितीय श्री दुलारू राम साहू, छत्तीसगढ़
  3. तृतीय श्री राजेश बागरा, राजस्थान

सर्वश्रेष्ठ डेयरी सहकारी/ दुग्ध उत्पादक कंपनी/ डेयरी किसान उत्पादक संगठन

  1. प्रथम कामधेनु हितकारी मंचबिलासपुर,हिमाचल प्रदेश
  2. द्वितीय दीप्तिगिरिक्षीरोलपदक सहकारना संगम, वायनाड, केरल

 

 

- Advertisement -

Related Articles

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

Stay Connected

217,837FansLike
829FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

ऐप खोलें