अप्रैल माह में फल व सब्जियों के काम 

0
721
views

अप्रैल माह में फल व सब्जियों का उत्पादन करने वाले किसान क्या करें ? इस समय फल व सब्जियों में कोन से रोग लगने की सम्भावना होती हैं एवं कोन सी नई सब्जी या फल लगाये जा सकते हैं ? गर्मियों की शुरुआत मार्च माह से प्रारंभ हो जाती इसलिए इस समय सब्जियों पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होती है आइये जानतें हैं अप्रैल माह में उद्यानिकी फसलों में क्या कार्य किये जाते हैं :-

अप्रैल माह में फल व सब्जियों के काम 

  • आम में भुनगा तथा रिकनेस कीट की रोकथाम के लिए कीलेक्स काबोरिल 2 ग्राम/प्रतिलीटर या इण्डोसल्फान 5 मि.ली. तथा खर् रोग एवं एन्उाोक्नोज की रोकथाम हेतु 2 ग्राम ब्लाइटाक्स 50 एवं 40 पी.पी.एम.एन.ए.ए. का मिलाकर छिडकाव करें।
  • आम फल के उपलक्षय रोग की रोकथाम के लिए 8 गाम बोरेक्स प्र्रति लीटर पानी में घोलकर छिडकाव करें।
  • दीमक की रोकथाम के लिए 300 ग्राम एल्ड्रेक्स 5 प्रतिशत धूल मिट्टी में मिलाएँ।
  • केला रोपण करें।
  • कटहल में क्रपकरोग की रोकथाम हेतु प्र्रभावित शाखा को डेढ फीट नीचे से काटकर पृथक करें तथा बोर्े मिक्चर का छिडकाव करें।
  • पपीता की फसल पर लाल मकडी एवं पावडरी मिल्डय्यू की रोकथाम हेतु मेटासिस्टाक एवं केरेथार्ैंन 02 प्र्रतिशत का छिडकाव करें।
  • अरबी, परवल, कुंदरू, चौलाई की बौनी करें।
  • भिण्डी, कद्दध्वर्गीय सब्जियों पर चूर्ण फफूंद की रोकथाम हेतु साल्फेक्स 2 वाम/लीटर पानी में घोलकर छिडकाव करें । रेडपम्पकिन विटल की रोकथाम हेतु कीटनाशक दवा का छिडकाव करें।
  • हल्दी, अदरक, शलजम तथा अरबी का रोपण करें।
  • नर्सरी के लिए मिट्टी का सोलोराइजेशन करें
  • नियोजित रूप से सिंचाई करें तथा मल्चिंग की व्यवस्था करें।
यह भी पढ़ें   इस योजना के तहत किसान गोबर से बनी जैविक खाद एवं गोमूत्र बेच कर सकेंगे अतिरिक्त कमाई
उध्यानिकी फसलों की सम्पूर्ण जानकारी के लिए देखें: फसलें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here