back to top
Wednesday, May 22, 2024
Homeकिसान समाचार15 मार्च से अब तक बारिश एवं ओला वृष्टि से इन 11...

15 मार्च से अब तक बारिश एवं ओला वृष्टि से इन 11 जिलों के 1 लाख से अधिक किसानों को हुआ नुकसान, मिलेगा इतना मुआवजा

बारिश एवं ओला वृष्टि से फसल नुकसान 

15 मार्च से देश के विभिन्न राज्यों में बेमौसम बारिश एवं ओला वृष्टि से किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ है, जिसकी भरपाई किसानों को जल्द की जा सके इसके लिए सरकार द्वारा सर्वे कराया जा रहा है। इस कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने 15 मार्च 2023 से अभी तक हुए रबी फसलों को नुकसान को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित की।

बैठक में मुख्यमंत्री ने राज्य में 31 मार्च से 2 अप्रैल के दौरान राज्य में वर्षा एवं ओला वृष्टि से हुई फसल क्षति का सर्वे तत्काल कराकर प्रभावित किसानों को कृषि निवेश अनुदान राहत प्रदान किए जाने के निर्देश सम्बंधित ज़िला अधिकारियों को दिए हैं। साथ ही उन्होंने विभिन्न आपदाओं से प्रदेश में हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त कर दिवंगत व्यक्तियों के परिजनों को तत्काल राज्य मोचक निधि से अनुमन्य राशि वितरित किए जाने के निर्देश भी दिए।

31 मार्च से 2 अप्रैल के दौरान 10 जनपदों में हुई है ओलावृष्टि 

राज्य में 31 मार्च से 2 अप्रैल के दौरान 10 जनपदों फ़तेहपुर, पीलीभीत, बरेली, सीतापुर, अलीगढ़, मुरादाबाद, सोनभद्र, हमीरपुर, संभल तथा उन्नाव जिलों में बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ है। इन जनपदों में फसल क्षति का आंकलन प्लॉटवार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें   मंडी में गेहूं की साफ-सफाई करवाने के लिए किसानों को देना होगा इतनी राशि

वहीं राहत आयुक्त कार्यालय द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के अनुसार राज्य में इस दौरान आकाशीय बिजली गिरने, डूबने तथा जंगली जानवरों के चलते कुल 7 लोगों की मृत्यु हुई है। जनपद लखनऊ, ग़ाज़ीपुर, हरदोई तथा वाराणसी में आकाशीय बिजली गिरने से 01-01 मृत्यु, जनपद बहराइच में डूबने से 02 लोगों की मृत्यु तथा जनपद लखीमपुर खीरी में जंगली जानवर से 01 जनहानि हुई है।

15 मार्च से अब तक 1 लाख से अधिक किसानों को हुआ फसल नुकसान

सरकार द्वारा कराए गए सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार 15 मार्च, 2023 से अब तक हुए सर्वे में प्रदेश में हुई बेमौसम बारिश एवं ओला वृष्टि से 11 जनपदों में कुल 35480.52 हेक्टेयर कृषि क्षेत्रफल तथा कुल 01 लाख 07 हजार 523 किसानों के प्रभावित होने की सूचना है। प्रभावित किसानों को कुल 5859.29 लाख रुपए का मुआवजा दिया जाना प्रस्तावित है।

इसमें जनपद फ़तेहपुर में 5,026 किसानों का 1,343 हेक्टेयर, आगरा में 4,738 किसानों का 2,804.15 हेक्टेयर, बरेली में 3,090 किसानों का 559 हेक्टेयर, चंदौली में 11,265 किसानों का 2,986.81 हेक्टेयर, हमीरपुर में 396 किसानों का 271.83 हेक्टेयर, झाँसी में 205 किसानों का 145 हेक्टेयर, ललितपुर में 7,380 किसानों का 6,216.23 हेक्टेयर, प्रयागराज में 9,252 किसानों का 4,448.20 हेक्टेयर, उन्नाव में 5,505 किसानों का 2,801 हेक्टेयर, वाराणसी में 58,393 किसानों का 13,112 हेक्टेयर तथा लखीमपुर खीरी में 2,273 किसानों का 792.52 हेक्टेयर कृषि क्षेत्रफल में नुकसान हुआ है। 

यह भी पढ़ें   यह है गोबर की खाद बनाने का सही तरीका, जिससे मिलेगा अधिक फायदा

बारिश ओला वृष्टि से प्रभावित गेहूं भी ख़रीदेगी सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा है कि बरसात, तेज हवा, ओला वृष्टि आदि प्राकृतिक कारणों से गेहूं आदि की फसल खराब हो सकती है। जिस फसल की पैदावार होने जा रही है, उसकी गुणवत्ता पर भी बुरा असर पड़ने की आशंका है। ऐसी फसल को भी न्यूनतम समर्थन मूल्य के तहत खरीदा जाना चाहिए। इसके लिए आवश्यकता अनुसार नियम शिथिल किए जाने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जाए। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर