यहाँ से किसानों ने 36 करोड़ रुपये के कृषि यंत्र सब्सिडी पर खरीदे

11
41765

अनुदान पर कृषि यंत्रों की खरीद

बिहार में हार्वेस्टर सहित 81 प्रकार के कृषि यंत्र सब्सिडी पर लेने के लिए ऐसे करें ऑनलाइन आवेदन 

किसानों को सब्सिडी पर कृषि यंत्र देने के लिए कृषि मेला का आयोजना किया गया | यह मेला 17 फरवरी 2020 को समाप्त हो गया है | कृषि मेले की शुरुआत 14 फरवरी को जी थी जो 17 फरवरी तक चला | यह कृषि मेला वर्ष 2011 से आयोजित किया जा रहा है | कृषि मेले में 81 प्रकार के कृषि यंत्र सब्सिडी पर देने के लिए किसानों के लिए रखा गया था | इस मेले में देश के कई राज्यों की कंपनियों ने भाग लिया, इसके अलावा इजरायल के कम्पनियां भी इस मेले में शामिल हुई है | इस मेले की खास बात यह रही की पहली बार ड्रोन से कीटनाशक छिडकाव का मशीन प्रदर्शनी के लिए लाया गया था | किसान समाधान कृषि यांत्रिक मेले की समापन पर पूरी जानकारी लेकर आया है | बिहार में कृषि यंत्र सब्सिडी पर लेने के लिए अभी भी आवेदन चल रहे हैं | 

कृषि मेला में किसानों के बीच कितनी सब्सिडीके कृषि यंत्र दिए गए  

इस वर्ष प्रदर्शनी – सह – मेला में राज्य के किसानों ने बड़ी संख्या में कृषि यंत्रों की खरीदी कर सरकार की योजना का लाभ उठाया | प्रदर्शनी में लगभग 36 करोड़ रूपये के कृषि यंत्रों की बिक्री हुई, जिन पर राज्य के किसानों को 14,57,83,500 रूपये अनुदान दिया गया है | कृषि यंत्र पर सब्सिडी प्राप्त करने वाले जिलों में पटना, मधुबनि तथा खगड़िया का प्रदर्शन सराहनीय रहा | इन तीनों जिलों में किसानों को क्रमश: 1,82,98,000 , 1,25,65,000 एवं 1,09,20,000 रुपये कृषि यंत्रों पर अनुदान दिया गया है |

यह भी पढ़ें   25 मार्च तक किसानों को ब्याज सहित फसल बीमा क्लेम का भुगतान करें कंपनियां: कृषि मंत्री

किसानों के द्वारा कितने कृषि यंत्रों की खरीदी की गई

आज तक इस प्रदर्शनी–सह–मेला में चार दिनों में राज्य के किसानों के बीच अब तक 20 हाई कैपेसिटी मल्टीक्राप थ्रेसर, 24 कम्बाईन हार्वेस्टर, 71 जीरोटिलेज, 37 पावर टीलर, 650 रोटावेटर, 205 थ्रेसर, 79 मल्टीक्राप थ्रेसर, 90 पैडी थ्रेसर, 10 सेल्फ प्रोपेल्ड रीपर, 451 चैफकटर, 5 मिनी रबर राईस मिल, 282 कल्टीवेटर, 1168 पम्पसेट, 3 पोटैटो प्लांटर, 5831 यूनिट सिंचाई पाईप, 3 पावर बीडर, 6 बुम स्प्रेयर, 360 स्प्रेयर, 165 डिस्क हैरो, 34 इलेक्ट्रिक मोटर आदि कृषि यंत्र किसानों को दिया गया है |

फसल प्रबंधन के लिए 7 प्रकार के कृषि यंत्र दिया गया 

फसल अवशेष प्रबंधन से संबंधित कृषि यंत्रों का विशेष रूप से प्रदर्शन एवं बिक्री की गई | सरकार द्वारा किसानों को फसल अवशेष जलाने के बदले उनका खेतों में ही प्रबंधन कर खाद के रूप में उपयोग करने को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से कई नवीनतम कृषि यंत्रों यथा 9 से 11 टाईन का हैप्पी सीडर बिना रेक का स्ट्रा बेलर, स्ट्रा रीपर, सुपर सीडर, रोटरी मल्चर एवं स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम पर संन्य वर्ग के किसान के लिए 75 प्रतिशत तथा अनुसूचित जाति / जनजाति और अत्यंत पिछड़ा वर्ग के किसानों के लिए 80 प्रतिशत अनुदान और स्वचालित / ट्रैक्टर चालित रीपर – कम – बाईडर पर 50 प्रतिशत अनुदान देने की व्यवस्था की गई | हैप्पी सीडर (9 से 11 टाइन) – 15, रोटरी मल्चर – 29, स्ट्रा – बेलर – 18, स्ट्रा – रीपर – 71 सुपर सीडर – 8, स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम (एस.एम.एस.) – 23 रीपर – कम – बाइन्डर – 197 फसल अवशेष कृषि यंत्र दिया गया है |  

यह भी पढ़ें   किसानों को जीरो प्रतिशत पर कृषि ऋण एवं कृषि ऋण की केवल 90 प्रतिशत राशि ही वापस करनी होती है : कृषि श्री बिसेन 

सब्सिडी पर कृषि यंत्र लेने के लिए आवेदन करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

11 COMMENTS

    • यह योजना अभी राजस्थान के सहकारी बैंक में ही है है | अभी आपका जिस बैंक में किसान क्रेडिट कार्ड है वही से जाकर लेना होगा |

  1. Also need kisan loan if possible electric pump set by Bihar government, please provide because not available electric pump motor in our village

    • जी जो यंत्र लिस्ट में उन्ही पर सब्सिडी दी जाती है अभी | लोन तो आपको बैंक से ही लेना होगा | सुब्सिदी के लिए आवेदन करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here