इस राज्य में पंचायत स्तर पर नि:शुल्क बीज दिए जा रहे हैं

1
986

पंचायत स्तर पर नि:शुल्क बीज दिए जा रहे हैं

बिहार राज्य में खरीफ मौसम में सामान्य से बहुत कम वर्षा होने के कारण मुख्य फसल धान की बुवाई बहुत कम हुई है | किसानों के कम बुआई के कारण हुए नुकसान की भरपाई के लिए नि:शुल्क वैकल्पिक बीजों की मांग की गई है | मांग के अनुरूप बिहार सरकार ने वैकल्पिक फसलों के बीज उपलब्ध करने हेतु बिहार राज्य बीज निगम लिमटेड को निर्देशित किया गया है | बिहार बीज निगम के द्वारा 3,000 क्विंटल  धान, 27,500 क्विंटल  मक्का, 22,700 क्विंटल  तोरियाँ / सरसों, 6,300 क्विंटल  ज्वार , 15,200 क्विंटल  मटर, 17,200 क्विंटल  अरहर, 17,000 क्विंटल  उड़द, 4,000 क्विंटल  बाजरा, 8,600 क्विंटल  कुत्थी, 3,000 क्विंटल  पालक, 500 क्विंटल  मुली तथा 500 क्विंटल  चौलाई के बीज उपलब्ध कराया गया है |

बीज निगम द्वारा तत्काल 12 जिलों पटना, नालन्दा, गया, जहानाबाद, नवादा, जमुई,शेखपुरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, मधुबनी तथा पुरनिया में 2,200 क्विंटल  मक्का के बीज एवं 2 जिलों नालन्दा तथा समस्तीपुर में 10 क्विंटल  अरहर के बीज की आपूर्ति के आदेश निर्गत कर दिया गए है | इस प्रकार, इन 13 जिलों के अतिरिक्त शेष सभी जिलों में 28 जुलाई तक उनकी मांग के अनुरूप सभी फसलों की आपूर्ति कर दी जायेगी |

यह भी पढ़ें   वायु प्रदूषण का 95 प्रतिशत स्थानीय कारकों से, पराली जलने से केवल 4 प्रतिशत प्रदूषण: प्रकाश जावडेकर

यह सभी बीज पंचायत / प्रखंड स्तर पर कैम्प लगाकर वितरित किये जायेगें | बिहार सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2018 – 19 में अनियमित मानसून बाढ़ / सूखे जैसे आपतकालीन स्थिति से निपटने हेतु आकस्मिक फसल योजना के अन्तर्गत 15,00 लाख रु. की योजना स्वीकृत प्रदान की गयी है |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here