Tuesday, November 29, 2022
Homeकिसान समाचारसमर्थन मूल्य पर की जा रही है वनोपज की खरीद

समर्थन मूल्य पर की जा रही है वनोपज की खरीद

Must Read

आज के मंडी भाव

जानिए देश भर की सभी मंडियों के भाव

वनोपज खरीद

वनोपज पर आधारित किसान तथा आदिवासी समाज के लिए वन एक वरदान है | वन में पाये जाने वाले पेड़ पौधों से विभिन्न प्रकार के वन आधारित औषधिय फल तथा फुल संग्रह किये जाते हैं | वर्ष में एक बार पेड़ तथा पौधों में लगने वाले फुल तथा फल का आदिवासी को वर्ष भर इंतजार रहता है | इसके संग्रह के लिए राज्य सरकार एक माह तथा उससे ज्यादा दिन के लिए वन में जाने के लिए लाईसेंस देते है और राज्य सरकार द्वारा कुछ वनोपज समर्थन मूल्य पर खरीदी जाती है, जिससे उनका वर्ष भर के लिए जीवका साधन बनता है |

समर्थन मूल्य पर की जा रही है वनोपज की खरीद

इस वर्ष वन क्षेत्र के फल फुल संग्रह करने के लिए 15 अप्रैल से मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी जिलों के वन आधारित आजीवका चलाने वाले लोगों को छुट दी थी | इसके साथ ही राज्य सरकार ने सभी वन संग्रह का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी तय किया था जो पिछले वर्ष से ज्यादा है | लगभग एक माह के बाद राज्य में महुआ की खरीदी सबसे ज्यादा हुआ है |

यह भी पढ़ें   अंतिम दिन: सब्सिडी पर सोलर पम्प लेने के लिए आज ही आवेदन करें

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया की गत 15 अप्रैल को वनोपज मूल्यों में कि गई वृद्धि को लेकर संग्राहक उत्साहित हैं | अप्रैल के अंतिम सप्ताह से महुआ फुल संग्रहण शुरू हुआ है | राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा अब तक प्रदेश में 1380 क्विंटल फुल न्यूनतम समर्थन मूल्य पर क्रय किया जा चूका है |

वनोपज में सबसे ज्यादा महुआ का संग्रह किया जाता है | मध्यप्रदेश में लगभग 75 हजार परिवार महुआ संग्रहण का कार्य करते हैं | इसके अलावा भी वन से चिरोजी, कुसुम लार, पलाश लाख, हर्रा, बहेड़ा, बेल्पोड़ा, चकोड़ा, शहद, करंज, साल, निबोली, नागरमौथा का भी उपार्जण किया जाता है | अलग जिलों में अलग प्रकार का औषधिय पौधों से फल तथा फुल का संग्रह किया जाता है |

जानिए क्या है  इस वर्ष वनोपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य

राज्य सरकार ने इन सभी वनोपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढ़ोतरी की है | जिससे इसकी उपार्जन करने वाले को ज्यादा फायदा हुआ है | मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने महुआ की मूल्य में 30 से रूपये बढ़कर 35 रूपये किया है | इसके साथ ही चिरोंजी का उपार्जन 109 से बढ़कर 130 , कुसुम लार 203 से 230 रूपये , पलाश लाख 130 से 150 रूपये , हर्रा 15 से 20 रूपये, बहेड़ा 17 से बढ़ाकर 25 रूपये, बेलपोड़ा 27 से बढ़कर 30 रूपये, चकोड़ा १४ से 20 रूपये, शहद 19५ से 225 रूपये, करंज 35 से 40 रूपये, साल बीज 20 से 25 रूपये , निंबोली 23 से 30 रूपये ओर नागर मौथा 27 से 35 रूपये उपार्जन मूल्य पर क्रय किया जा रहा है |

यह भी पढ़ें   भावांतर भरपाई योजना के तहत किसानों को बाजरा की खरीद पर किया जायेगा 450 रुपए प्रति क्विंटल का भुगतान

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

-Sponser Links-
-विज्ञापन-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

किसान समाधान से यहाँ भी जुड़ें

217,837FansLike
820FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
-विज्ञापन-
-विज्ञापन-

सम्बंधित समाचार

-विज्ञापन-
ऐप खोलें