कीट नियंत्रण हेतु सरकार फेरोमोन ट्रेप पर 90 प्रतिशत तो कीटनाशकों पर दे रही है 50 प्रतिशत अनुदान

0
10950
pheromone trap and keetnashak dawa

फेरोमोन ट्रेप एवं कीटनाशक पर अनुदान

देश में अभी कई राज्यों में रबी फसलों की कटाई शुरू हो गई है तो कहीं कुछ फसलों की कटाई में अभी देरी है | रबी फसल के अंतिम दौर में फसलों पर कीट/व्याधि का प्रकोप बढ़ गया है | जिसकी रोकथाम करना जरुरी है अन्यथा उत्पादन पर असर पड़ेगा | इसके लिए बिहार सरकार ने राज्य के कुछ जिलों में कीट/व्याधि को रोकने के लिए किसानों को सब्सिडी पर कीटनाशक एवं फेरोमोन ट्रैप दे रही है | कृषि विभाग के अनुसार बिहार के टाल में मुख्यत: दलहन/तेलहन फसल का आच्छादन पटना, नालंदा, लखीसराय, शेखपुरा, मुंगेर एवं भागलपुर जिले में क्रमश: 32,884 हे., 11,046 हे., 10,471 हे., 5,341 हे., 1,508 हे. एवं 6,976 हेक्टेयर में हुआ है |

इस आच्छदित रकवा के विरुद्ध क्रमश: 111,27 हे. 1,,942 हे., 916 हे., 3,57 हे., 4,12 हे., एवं 6839 हे. फसलों में कीट/व्याधि लगने से संबंधित प्रतिवेदन प्राप्त हुआ है | टाल क्षेत्र जिलों से प्राप्त सर्वेक्षण प्रतिवेदन के अनुरूप कीट/व्याधि पर नियंत्रण हेतु कृषकों द्वारा रासायनिक कीटनाशियों का छिडकाव तथा फेरोमोन ट्रैप का उपयोग भी किया जा रहा है |

यह भी पढ़ें   4 लाख 42 हजार किसानों को किया गया प्रधानमंत्री फसल बीमा दावा का भुगतान

इन किसानों को अनुदान पर दे रही है फेरोमोन ट्रैप

राज्य के अंतर्गत टाल क्षेत्र के छ: जिलों यथा पटना, नालंदा, लखीसराय, शेखपुरा, मुंगेर एवं भागलपुर में चना, खेसारी, मटर, सरसों आदि फसलों में लगे कीट/व्याधियों के सफल प्रबंधन हेतु आवश्यक है कि फेरोमोन ट्रैप (गंध फास) लगाकर कीटों के संख्या का आकलन किया जाये एवं कीटों के संख्या बढने के स्थिति में नर कीटों को आकर्षित करने एवं नियंत्रण के लिए 10 फेरोमोन ट्रैप 30 ल्योर के साथ प्रति हे. लगाया जाता है |

फेरोमोन ट्रैप एवं कीटनाशक पर सरकार द्वारा दिया जाने वाला अनुदान

कृषि मंत्री के अनुसार कीटों की संख्या का आकलन तथा नर कीट को आकर्षित करने एवं नियंत्रण के लिए 10 फेरोमोन ट्रैप 30 ल्योर के साथ 777 रूपये प्रति हे. की दर से प्रभावित कृषकों को 90 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध कराया जायेगा |

दलहन / तेलहन फसल में फफुन्द्जनित, जीवाणुनाशी रोग एवं कीट की समस्या उत्पन्न होने पर कीट एवं व्याधि नियंत्रण के लिए कीटनाशी, फफूंदनाशी, जीवाणुनाशी एवं स्टीकर के लिए मूल्य का 50 प्रतिशत अधिकतम 1755 रूपये प्रति हे. दोनों में जो भी कम हो, अनुदान दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   72 हजार पशुपालकों को दिए गए गोबर खरीदी के 7 करोड़ 17 लाख रूपये

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.