डीएपी एवं अन्य उर्वरकों से सम्बन्धित शिकायतों के लिए इन नम्बरों पर कॉल करें

22
26291
fertilizer helpline number up

खाद सम्बंधित शिकायतों के लिए सहायता नम्बर

देश के विभिन्न राज्यों में उर्वरकों की काफी कमी देखी जा रही है | जिसके कारण किसानों काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है | उर्वरक की कमी के कारण रबी फसल की बुवाई में देरी हो रही है | ऐसे में उर्वरकों की कालाबाजारी कर किसानों को अधिक दामों पर उर्वरक बेचा जा रहा है |

इस पर उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने राज्य में उपलब्ध उर्वरक तथा किसानों के बीच इसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए समीक्षा बैठक की है | किसानों को समय से उर्वरक मिल सके तथा उर्वरक की उपलब्धता को लेकर निर्देश भी जारी किया है | किसानों की उर्वरक से सम्बन्धित समस्याओं को सुनने और उनके निस्तारण के लिये सहकारी क्षेत्र में कृषि निदेशालय के साथ प्रत्येक जनपद में एक-एक कन्ट्रोल-रूम स्थापित कर उनके दूरभाष जारी करने के आदेश दिए हैं |

प्रदेश में उर्वरक की उपलब्धता कितनी है ?

उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री ने डी.ए.पी., एन.पी.के. एवं एस.एस.पी. की आपूर्ति तथा उपलब्धता की जानकारी जारी की है | उन्होंने कहा है कि अक्टूबर 2020 में 4.02 लाख मी.टन के सापेक्ष अक्टूबर 2021 में 4.10 लाख मी. टन डी.ए.पी. की बिक्री हुई है | इसी प्रकार नवम्बर 2020 में 6.06 लाख मी. टन की बिक्री के सापेक्ष माह नवम्बर में दिनांक 15/11/2021 तक 2.84 लाख मी. टन की बिक्री हो चुकी है | प्रदेश में 15 नवम्बर 2021 तक 3.79 लाख मी. टन फास्फेट उर्वरक (डी.ए.पी. + एन.पी.के.) तथा 63 हजार मी.टन सिंगल सुपर फास्फेट उर्वरक उपलब्ध है |

यह भी पढ़ें   किसानों को मधुमक्खी पालन के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने शुरू की नई योजना

सहकारी समितियों में उपलब्ध खाद

उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री समीक्षा बैठक के बाद बताया कि प्रदेश के सहकारी समितियों में 89 हजार मी. टन डी.ए.पी. स्टाक उपलब्ध है | माह नवम्बर में 01 से 15 नवम्बर 2021 के मध्य 131 फास्फेट उर्वरकों की रैक्स डिस्पेच हुई | जिनमें से 71 रैक्स जनपदों में पहुँच चुकी है तथा 60 रैक्स आगामी 02 दिन में जिलों को उपलब्ध करा दी जाएगी | इसके अलावा केंद्र सरकार के द्वारा 30 नवम्बर 2021 तक 3.00 लाख मी.टन फास्फेटिक उर्वरकों की आपूर्ति प्रदेश हेतु की जाएगी |

किसान खाद सम्बंधित शिकायतों के लिए यहाँ सम्पर्क करें

राज्य के कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही ने निर्देश दिये हैं कि किसानों की उर्वरक से सम्बन्धित समस्याओं को सुनने और उनके निस्तारण के लिए सहकारी क्षेत्र में पी.सी.एफ. तथा कृषि निदेशालय के साथ प्रत्येक जनपद में एक–एक कंट्रोल–रूम स्थापित कर उनके दूरभाष नम्बर दैनिक समाचार–पत्रों में प्रकाशित कराये जायें | कृषि निदेशालय संख्या – 0522–2204531 एवं 7839883070 है | इसके अलावा समस्त उर्वरक बिक्री केन्द्रों में नोटिस बोर्ड लगाया जायेगा | जिसमें उर्वरकों की उपलब्धता स्टाक की मात्रा एवं विक्रय मूल्य/दर का स्पष्ट उल्लेख किया जाएगा |

यह भी पढ़ें   17 दिसम्बर को यहाँ आयोजित किया जा रहा है किसान सम्मलेन

22 COMMENTS

    • सर दिए गए नम्बर पर कॉल करें या अपने यहाँ के कृषि विभाग के अधिकारीयों से शिकायत करें |

    • सर दिए गए नम्बरों पर या अपने जनपद के कृषि अधिकारीयों से शिकायत करें |

    • सर बिहार में कृषि निदेशालय के दूरभाष सं. 0612–2233555 पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक कॉल करें |

    • सर बिहार में कृषि निदेशालय के दूरभाष सं. 0612–2233555 पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक कॉल करें |

    • सर उत्तर परदेश में किसानों को दिया जा रहा है आप अपने यहाँ के कृषि अधिकारीयों से या लेखपाल से सम्पर्क करें |

    • सर बिहार में कृषि निदेशालय के दूरभाष सं. 0612–2233555 पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक कॉल करें |

    • सर दिए गए नम्बर पर या अपने यहाँ के कृषि विभाग के अधिकारीयों से सभी किसान मिलकर शिकायत करें |

    • सर दिए गए नम्बर पर या अपने यहाँ के कृषि विभाग के अधिकारीयों से सभी किसान मिलकर शिकायत करें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.