किसान अब किसी भी क्रय केंद्र का टोकन लेकर बेच सकेगें धान

2
14779
dhan khareed

धान बेचने हेतु टोकन

खरीफ फसलों में धान की खरीदी अधिकांश राज्यों में प्रारंभ की जा चुकी है | उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों से धान खरीदी एवं इसके लिए पंजीयन का काम शुरू कर दिया है | पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 1 अक्टूबर 2021 से धान की खरीदी का कार्य चल रहा है जो 31 जनवरी 2022 तक चलेगा | वहीं पूर्वी उत्तर प्रदेश में 01 नवम्बर 2021 से खरीदी की जाएगी जो 28 फरवरी 2022 तक चलेगी|

उत्तर प्रदेश में इस वर्ष किसान अब अपने जनपद या सटे हुए जनपद के किसी भी क्रय केंद्र का टोकन प्राप्त कर धान बिक्री कर सकेंगे परन्तु यदि कोई किसान किसी केंद्र पर एक बार अपना धान बेच लेता है तो उसे अगली बार भी उत्पादित धान की शेष मात्रा उसी केंद्र पर बेचनी होगी |

समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए टोकन कहाँ से लें ?

उत्तर प्रदेश में किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए टोकन लेना जरुरी है | किसान खाध एवं रसद विभाग के पोर्टल www.fcs.up.gov.in पर ऑनलाइन पंजीयन कर टोकन प्राप्त कर सकते हैं | किसान साईबर कैफे, जनसुविधा केंद्र पर तथा निकटतम उचित दर विक्रेता के माध्यम से भी ऑनलाइन कृषक पंजीकरण करा सकते हैं | इसके अतिरिक्त किसान मोबाईल एप के माध्यम से स्वयं पंजीकरण कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें   किसानों के फसली ऋण माफ करने की शुरूआत

4000 खरीदी केन्द्रों पर की जाएगी धान की खरीद

इस वर्ष धान खरीद हेतु खाद्ध तथा रसद विभाग के अतिरिक्त पी.सी.एफ., पी.सी.यू., यू.पी.एस.एस., मंडी परिषद व भारतीय खाद्ध निगम सहित 06 क्रय एजेंसी नामित की गयी है | प्रदेश में 4000 क्रय केंद्र संचालित किया जाना प्रस्तावित है तथा इस वर्ष प्रदेश स्तर पर धान क्रय लक्ष्य 70.00 लाख मि.टन निर्धारित है |

कृषकों की उपज की मात्रा का आकलन कृषि विभाग द्वारा वर्ष 2021–22 में प्रति हेक्टेयर अनुमानित औसत उत्पादकता के 120 प्रतिशत के आधार पर किया जाएगा | किसानों की सुविधा के लिए 100 कुंटल तक धान की बिक्री की मात्रा को राजस्व विभाग के सत्यापन से छुट प्रदान की गयी है |

2 COMMENTS

    • किस राज्य से हैं ? अपने यहाँ खरीद केंद्र पर पंजीकरण करवाएं |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.