किसान अब 20 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की दर से समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे चना, सरसों एवं मसूर

9
24853
kisan app download

समर्थन मूल्य पर चना,सरसों एवं मसूर की खरीद

देश के सभी राज्यों में अभी रबी फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी जोरों पर हैं | गेहूं, चना, सरसों एवं मसूर का समर्थन मूल्य पर उपार्जन करने के लिए कई केंद्र बनायें गए हैं जहाँ किसान मेसेज प्राप्त होने पर उपज बेच रहे हैं | राज्य सरकारों द्वारा किसानों से प्रति हेक्टेयर फसलों की खरीद के लिए लिमिट तय की जाती है यह जिलेवार अलग-अलग भी हो सकती है जिसके अनुसार ही किसान अपनी उपज बेच सकते हैं | जहाँ कुछ राज्य सरकार जैसे राजस्थान में चना एवं सरसों उपार्जन के लिए 10 प्रतिशत अधिक किसानों से पंजीकरण करवाने का फैसला लिया है यहाँ के किसान 40 क्विंटल तक उपज बेच सकते हैं, वहीँ मध्यप्रदेश राज्य सरकार ने एक किसान से खरीद की मात्रा बढ़ाने का फैसला लिया है |

अधिक उत्पादन के चलते लिया गया फैसला

प्रदेश सरकार ने किसानों को लाभान्वित करने के लिये चना, मसूर एवं सरसों का उपार्जन प्रति हेक्टेयर 20 क्विंटल करने का निर्णय लिया है। इस निर्णय से किसानों को प्रति हेक्टेयर अतिरिक्त लाभ प्राप्त होगा। कृषि मंत्री श्री पटेल ने बताया कि इस वर्ष रबी की फसलों का बम्पर उत्पादन हुआ है। प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में वृद्धि को देखते हुए किसानों को लाभान्वित करने के लिये सरकार ने 5 क्विंटल प्रति हेक्टेयर उपार्जन में वृद्धि की है। इससे प्रदेश में पंजीकृत 5 लाख 30 हजार किसानों को फायदा मिलेगा। चना के विक्रय से लगभग 325 करोड़ रुपये और सरसों के विक्रय से लगभग 146 करोड़ रुपये का अतिरिक्त लाभ किसानों को होगा।

यह भी पढ़ें   13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से फसल नुकसानी का अनुदान लेने हेतु आवेदन करें

पिछले वर्ष चना एवं सरसों खरीद की दर

पिछले वर्ष में चने का उपार्जन नरसिंहपुर, हरदा, होशंगाबाद, छिंदवाड़ा, रायसेन, विदिशा को छोड़कर शेष जिलों में 15 क्विंटल प्रति हेक्टेयर के मान से किया गया था। इससे किसानों को 15 क्विंटल से अधिक उपज को समर्थन मूल्य से एक हजार कम रुपये में बाजार में बेचते हुए नुकसान उठाना पड़ा। उन्होंने कहा कि किसान पुत्र और किसान हितैषी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के हित में निर्णय लेते हुए एक ओर जहाँ चना का उपार्जन 5 क्विंटल प्रति हेक्टेयर बढ़ाया है, वहीं दूसरी ओर सरसों का उपार्जन 7 क्विंटल प्रति हेक्टेयर बढ़ाने का निर्णय लिया। गत वर्ष सरसों का औसत उपार्जन पूरे प्रदेश में 13 क्विंटल प्रति हेक्टेयर था।

  • चने का समर्थन मूल्य 4875 रुपये
  • सरसों का समर्थन मूल्य 4425 रुपये हैं |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

9 COMMENTS

    • मध्यप्रदेश में हो चुके हैं, राजस्थान में ई-मित्र से कर सकते हैं

  1. चना एवं सरसो दोनो एक साथ एक ही किसान के द्वारा अधिकतम बेचे जा सकते हे क्या सर?
    जेसे-
    चना-40 क्विंटल
    सरसो – 40 क्विंटल
    भूमि – 7 हेक्टर
    दोनो फसल एक ही भामाशाह कर्ड से एक साथ बेच सकते हे क्या ?

    • आपने पंजीकरण जिस फसल का करवाया है ? आपके पास उसके अनुसार मेसेज आ जायेगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here