किसानों को बीज उत्पदान के लिए धान और गेहूं के बीज पर मिलेगा 2000 रुपये प्रति क्विंटल का अनुदान

1
8796
subsidy on wheat and paddy seeds

धान और गेहूं के बीज खरीद पर अनुदान

किसानों की आय में वृद्धि करने तथा बीज के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र सरकार ने वर्ष 2014–15 में “बीज ग्राम योजना” को आरम्भ किया था | इस योजना के अन्तर्गत प्रमाणित बीज उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए किसानों को प्रोत्साहन दिया जा रहा है | जिससे किसान अपने खेत में बीज उत्पादन करके बेच सके और देश में अधिक से अधिक किसानों को प्रमाणित बीज उपलब्ध कराये जा सकें | सरकार बीज के मूल्य के साथ ही साथ किसानों को सब्सिडी पर बीज भी उपलब्ध कराती है | इस योजना के तहत किसानों के बनाए गये समूह को शामिल किया जाता है | इस समूह में 50 से 100 किसान अधिकतम हो सकते हैं | इसके लिए किसान समूहों को कृषि विज्ञान केंद्र के द्वारा प्रशिक्षण भी दिया जाता है |

क्या है अनुदान पर बीज खरीदने के लिए बीज ग्राम योजना

बीज ग्राम योजना के तहत 50 से 100 किसानों का एक या एक से अधिक समूह बनाया जाता है | इन समूहों को कृषि विज्ञान केंद्र के द्वारा बीज दिए जाते है | जिससे किसान अपने खेत में उत्पादन करके अधिक बीज का उत्पादन कर सकता है | किसानों को दिया जाने वाला बीज को फाउंडेशन बीज कहा जाता है | यह बीज किसानों को 0.1 हैक्टेयर क्षेत्र के लिए दिए जाते हैं | एक वर्ष बाद किसानों के खेतों में जो बीज तैयार होता है उसे प्रमाणिक बीज कहा जाता है | इस बीज को दुबारा बुवाई के लिए काम में लिया जाता है |

यह भी पढ़ें   आज इन जगहों पर हो सकती है बारिश के साथ ओलावृष्टि

इस पर कितना सब्सिडी दी जाती है ?

बीज ग्राम योजना के अंतर्गत किसान समूहों को कृषि विज्ञान केंद्र के तरफ से फाउंडेशन बीज उपलब्ध कराया जाता है | यह बीज किसानों को कृषि विज्ञान केंद्र के तरफ से निर्धारित मूल्य पर दिए जाते हैं | योजना के तहत किसानों के द्वारा खरीदे गये बीज पर सब्सिडी उपलब्ध कराई जाती है | जो अधिकतम 50 प्रतिशत रहती है |

उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में किसानों को वर्ष 2021–22 में फाउंडेशन बीज उपलब्ध कराने के लिए सब्सिडी उपलब्ध करा रही है | इसके लिए अलग–अलग फसलों के फाउंडेशन बीज पर सब्सिडी घोषित कर दी है | जो इस प्रकार है :-

धान एवं गेहूं के बीज खरीद पर दी जाएगी 50 प्रतिशत की सब्सिडी

गेहूं:- बीज ग्राम योजना अंतर्गत गेहूँ फाउंडेशन बीज पर किसान समूह को 50 प्रतिशत की सब्सिडी अथवा 2,000 रूपये प्रति क्विंटल जो भी कम हो सब्सिडी के तौर पर दिया जायेगा | पहले ग्राम बीज के अंतर्गत अधिकतम 1750 रूपये प्रति क्विंटल का अनुदान दिया जाता था | जो राष्ट्रीय खाद्ध सुरक्षा मिशन और पूर्वी भारत हरित क्रांति योजना से के द्वारा दिये जा रहे 2,000 रूपये प्रति क्विंटल से कम था | उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने गेहूं के फाउंडेशन बीज पर 250 रूपये प्रति क्विंटल की दर से अतिरिक्त सब्सिडी देने का फैसला लिया है |

यह भी पढ़ें   उन्नत किसानों को दिया जाएगा 50 हजार रुपये का पुरस्कार

धान :- बीज ग्राम योजना अंतर्गत धान फाउंडेशन बीज पर किसान समूह को 50 प्रतिशत की सब्सिडी अथवा 2,000 रूपये प्रति क्विंटल जो भी कम हो सब्सिडी के तौर पर दिया जायेगा | पहले बीज ग्राम योजना के अंतर्गत अधिकतम 1600 रूपये प्रति क्विंटल दिया जाता था | जो राष्ट्रीय खाद्ध सुरक्षा मिशन और पूर्वी भारत हरित क्रांति योजना से के द्वारा दिये जा रहे 2,000 रूपये प्रति क्विंटल से कम था | उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने गेहूं के फाउंडेशन बीज पर अतिरिक्त 400 रूपये प्रति क्विंटल की दर से सब्सिडी देने का फैसला लिया है |

बीज ग्राम योजना से कैसे जुड़ें ?

यदि कोई किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है तो उसे जिला कृषि पदाधिकारी से संपर्क करना होगा | इसके बाद आसान सी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया से आप इस योजना से जुड़ सकते हैं | जिसके बाद किसान बीज ग्राम योजना के तहत बीज का उत्पादन करके लाभ प्राप्त कर सकते हैं |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.