एकमुश्त अदायगी योजना के तहत किसान 31 दिसम्बर तक जमा कर सकेगें अपना लोन

2
kisan loan jama kare bina vyaj ke

एकमुश्त अदायगी योजना-2019

देश में बहुत से किसानों को फसल लगाने एवं अन्य कृषि कार्यों के लिए लोन की आवशयकता होती है, किसान यह लोन तो ले लेते हैं परन्तु किन्हीं कारणों से वापस चुका नहीं पाते हैं ऐसे में लोन की राशि बढती रहती है और वह एनपीए में तब्दील हो जाती है | जिस पर ब्याज भी बहुत ज्यादा हो जाता है जो किसान चूका पाने में असमर्थ होते हैं ऐसे में हरियाणा सरकार ने ऐसे किसानों के लिए एकमुश्त अदायगी योजना2019 की शुरुआत की थी जो किसान अभी तक इस योजना के तहत लोन जमा नहीं कर पायें हैं वह किसान 31 दिसम्बर तक अपना लोन जमा कर सकते हैं |

अभी तक कितने किसानों ने लिया एकमुश्त अदायगी योजना का लाभ

इस योजना के तहत लगभग 7 लाख पात्र किसानों में से 30 नवंबर 2019 तक 1,98,561 किसानों को ब्याज की पूर्ण राहत प्रदान की जा चुकी है। इसी प्रकार, केंद्रीय सहकारी बैंकों के 31,749 अतिदेय ऋणी सदस्यों/किसानों में से 5,584 सदस्यों/किसानों को ब्याज में राहत प्रदान की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के अधीन सभी जिला प्राथमिक सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंकों के 92,258 अतिदेय ऋणी किसानों/सदस्यों में से 4,810 सदस्यों को इस योजना के अंतर्गत आधे ब्याज की राहत दी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें   नई मोदी सरकार का बड़ा फैसला अब इन किसानों को भी मिलेगा 6,000 रुपये सालाना

क्या है योजना

हरियाणा राज्य सहकारी अपैक्स बैंक, चंडीगढ़ के अधीन सभी जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों, प्राथमिक सहकारी समितियों व राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के अधीन सभी जिला प्राथमिक सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंकों के ऐसे ऋणी किसानों व सदस्यों को इस योजना में सम्मिलित किया गया है जो किन्हीं कारणों से अतिदेय ऋण की अदायगी नहीं कर सके। इस योजना के अंतर्गत प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के 31 अगस्त 2019 को अतिदेय ऋणी सदस्यों को सम्पूर्ण ब्याज में राहत प्रदान की जानी है ।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

Previous articleयूरिया खाद नहीं मिलने पर किसान इस नम्बर पर करें शिकायत
Next article13,500 रुपये तक की सब्सिडी लेने के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत किसान आवेदन करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here