मौसम अनुकूल नई तकनीकों की जानकारी के लिए किसान आयें इस मेले में

2
1904
kisan mela 2020 bihar

किसान मेला 2020

मौसम परिवर्त्तन के परिपेक्ष्य में जलवायु अनुकूल कृषि तकनीकों को स्थानीय स्तर पर बेहतर ताल–मेल को साथ क्रियान्वित करने की आवश्यकता है | विभिन्न कृषि पारिस्थितिकी दशाओं में मौसम परिवर्तन के अनुकूल विभिन्न तकनीकों का समावेशन उचित होता है | मौसम के मिजाज में हो रहे बदलाव के आलोक में सिंचाई हेतु जल, पोषक तत्व, कार्बन (फसल उत्पादन का प्रमुख तत्व), ऊर्जा (कृषि कार्य हेतु लगने वाली), मौसम एवं तकनीकी ज्ञान के 06 विषय मुख्य आधार है जिनपर ध्यान देना आवश्यक है | जलवायु के अनुकूल कृषि तकनीक यथा –

खेती-किसानी के लिए मौसम अनुकूल आधुनिक तकनीकें

धान की सीधी बुआई, मक्का आधारित पद्धति, रेज्ड ब्लेड तकनीक, फसल अवशेष प्रबंधन, स्रोत का समतलीकरण, खेत की मेंढबंदी, सूक्ष्म सिंचाई पद्धति, पोषण जानकारी टूल्स, ग्रीन सीकर मशीन का व्यवहार, फसल प्रभेद का व्यवहार, फसल पद्धति अनुकूलन, फसल विविधिकरण आदि का व्यवहार संरक्षित खेती के लिए आवश्यक होगा | मौसम परिवर्तन के परिपेक्ष्य में सभी वर्ग के किसान के लिए कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों में उनका तकनीकी क्षमता वर्द्धन परम आवश्यक है |

यह भी पढ़ें   पीएम किसान योजना में कैसे देखें अपना नाम,क्या है हेल्पलाइन नंबर ?

किसान मेला विश्वविध्यालय की एक महत्वपूर्ण वार्षिक गतिविधि है जो नवीनतम कृषि आधारित तकनीकी और शोध के विकास पर उत्पादन/उत्पादकता/आमदनी को बढ़ाने के लिए जागरूकता प्रदानकर्ता है | ऐसा आयोजन किसानों/कृषि उधमियों/प्रसार कार्यकर्ताओं, ग्रामीण युवाओं से प्रतिक्रिया प्राप्त कर भावी अनुसंधान तथा प्रसार की प्राथमिकता की दिशा तय करता है | इस वर्ष के मेले का आयोजन विशेष विषय – वस्तु “मौसम के अनुकूल कृषि तकनीकें” को केंद्र बिंदु में रखते हुए किया जा रहा है | यह मेला बिहार राज्य के बिहार कृषि विश्वविध्यालय, सबौर के द्वारा कैंपस में आयोजित किया जाएगा |

किसान मेले में किसानों के लिए क्या-क्या रहेगा

इस मेला में विश्वविध्यालय में विभिन्न प्रकार की प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा | किसान यहाँ पर आकर पशुपालन, कृषि बीज, कृषि यंत्र, कृषि प्रतियोगिता की जानकारी प्राप्त कर सकता है | किसान यहाँ से फसल के उन्नत  बीज खरीद सकते हैं |

कृषि विश्वविध्यालय के तरफ से यह जानकारी दी गई है कि किसान मेले में प्रदर्शनी की जाएगी-

  • विश्वविध्यालय द्वारा विकसित की गई नवीनतम तकनीकों का प्रदर्शन
  • विभिन्न प्रकार के बीजों पौध सामग्री का प्रदर्शन एवं विपन्न
  • किसानों द्वारा तैयार किए गये गुण समवर्घित उत्पादों की प्रदर्शनी तथा विपन्न
  • बागवानी एवं पशुओं की प्रदर्शनी
  • कृषि उपादनों की प्रदर्शनी तथा विपन्न
  • किसान गोष्ठी / कृषि ज्ञान प्रतियोगिता / सांस्कृतिक कार्यक्रम
  • प्रगतिशील किसानों को सम्मान
  • बिहार कृषि विश्वविध्यालय के प्रायोगिक प्रक्षेत्र पर किसानों का भ्रमण
  • जीवंत प्रत्यक्षण
यह भी पढ़ें   सौर ऊर्जा आधारित ट्यूबवेल योजना लाने जा रही है हरियाणा सरकार

इसके अलवा अन्य कंपनियों का स्टोल भी लगा रहेगा | जिसमें कृषि यंत्र के साथ – साथ कृषि के अन्य जानकारिया दिया जायेगा |

 मेले का आयोजन कब से किया जा रहा है ?

किसान मेला 23 से 25 फरवरी 2020 को आयोजित किया जाएगा | इसमें कोई भी किसान शामिल हो सकते हैं और कृषि की जानकारी के साथ अपने पसंद का बीज तथा अन्य उपकरण खरीद सकते हैं | 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here