किसान रहे सावधान: कुसुम योजना के तहत सोलर पम्प सब्सिडी हेतु पंजीकरण के नाम हो सकती है धोखाधड़ी

0
1727
solar pump subsidy kusum yojna alert

कुसुम योजना के तहत सोलर पम्प पंजीकरण में धोखाधडी

देश में किसानों को उर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर करने के लिए तथा अक्षय (सौर) ऊर्जा को बढ़ाने के लिए वर्ष 2018–19 में केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (कुसुम) योजना की शुरुआत की थी | जिसके तहत किसानों को कृषि पंपों के सौरीकरण के लिए 60 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता है। किसानों को सब्सिडी पर सोलर पम्प देने के लिए राज्य सरकारों के द्वारा पंजीकरण करवाए जाते हैं जिसमें कुछ राज्य सरकारें अपनी तरफ से भी किसानों को सब्सिडी देती है जिससे कुछ राज्यों में किसानों को 60 प्रतिशत से अधिक सब्सिडी भी मिलती है |

पीएम-कुसुम योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी

नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) द्वारा प्रधान मंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (प्रधानमंत्री-कुसुम) योजना के तहत कृषि पंपों के सौरीकरण के लिए 60 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता है। इस योजना को राज्य सरकार के विभागों द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है जिसमें किसानों को केवल बाकी का 40 प्रतिशत ही विभाग को जमा करवाना होता है |

यह भी पढ़ें   प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण और राष्ट्रीय कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम की शुरूआत की

किसान पंजीकरण करने एवं शुल्क जमा करने से पहले रहे सावधान

कुछ वेबसाइटों ने पीएम-कुसुम योजना के लिए पंजीकरण पोर्टल होने का दावा किया है। ऐसी वेबसाइटें आम जनता को धोखा दे रही हैं और फर्जी पंजीकरण पोर्टल के माध्यम से उनसे रुपये तथा जानकारी एकत्रित कर रही है । आम जनता को किसी भी नुकसान से बचाने के लिए, MNRE ने पहले लाभार्थियों और आम जनता को ऐसी किसी भी वेबसाइटों पर पंजीकरण शुल्क नहीं जमा करने और अपनी जानकारी साझा करने से सतर्क रहने की सलाह दी थी।

ऐसी वेबसाइटों की जानकारी मिलने पर MNRE द्वारा उनके विरुद्ध कार्यवाही की जाती है अभी कुछ नई वेबसाइटों (www.pmkusumyojana.co.in and www.punjabsolarpumps.com) ने अवैध रूप से पीएम-कुसुम योजना के लिए पंजीकरण पोर्टल का दावा किया है। अतः फिर से सभी संभावित लाभार्थियों और आम जनता को सलाह दी जाती है कि इन वेबसाइटों पर रुपया या जानकारी जमा करने से बचें।

यह भी पढ़ें   अब दुसरे राज्यों के किसान भी मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण कर बेच सकेगें धान

किसान पीएम-कुसुम योजना से सम्बंधित सही जानकारी के लिए क्या करें

किसान योजना में भागीदारी के लिए पात्रता और कार्यान्वयन प्रक्रिया से संबंधित सभी जानकारी MNRE की वेबसाइट www.mnre.gov.in पर देख सकते हैं | इसके आलावा राज्य सरकारों के द्वारा जिन पोर्टलों पर पंजीकरण होते हैं उसकी जानकारी भी किसान नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) पर देख सकते हैं | किसान इसके अतिरिक्त कुसुम योजना के टोल फ्री हेल्प लाइन नंबर 1800-180-3333 पर कॉल कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here