किसान आंदोलन: किसानों की भूख हड़ताल आज

0
249
kisan andolan bhookh hadtaal

किसानों की भूख हड़ताल आज

नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में किसानों का 18 दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी है, किसान अलग-अलग तरह से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं | इस बीच देश भर से किसान दिल्ली कूच कर रहे हैं | जहाँ सरकार कृषि कानूनों में कुछ संशोधन करने को तैयार है वहीँ किसान कृषि कानूनों को रद्द करवाने की मांग पर अड़े हुए हैं | इस बीच भारत बंद के बाद अब किसान संगठनों के प्रतिनिधि 14 दिसम्बर को एक दिन की भूख हड़ताल पर बैठेंगे |

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान नेताओं की भूख हड़ताल आज 

किसान नेताओं ने शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऐलान किया कि सोमवार को दिल्ली बॉर्डर पर सभी किसान नेता सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक अनशन करेंगे। इसके अलावा सभी डिस्ट्रिक्ट हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन भी किया जाएगा। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि कल सारे संगठनों के मुखिया सुबह 8 बजे से शाम पांच बजे तक एक दिन के लिए भूख हड़ताल रखेंगे |

यह भी पढ़ें   चेतावनी ! इस योजना के तहत किसानों के साथ हो रही धोखाधड़ी, भूलकर भी न करें पंजीयन

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP), तीन कानून और किसान के जितने भी मुद्दे हैं उन पर सरकार बातचीत करे और इनका समाधान करे। जब तक ये(कानून) वापस नहीं होते किसान यहां से नहीं जाएगा |

अरविन्द केजरीवाल सहित आम आदमी पार्टी के नेता भी रखेंगे एक दिन का उपवास

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने किसानों की मांगो समर्थन किया है इसके आलावा उन्होंने किसानों के समर्थन में एक दिन का उपवास रखने का फैसला लिया है साथ ही देशवासियों से भी एक दिन के उपवास रखने की अपील की है | उन्होंने कहा कि किसानों ने कल एक दिन के उपवास का ऐलान किया है। उन्होंने अपील की है देश की जनता से कि किसानों के समर्थन में सब लोग एक दिन का उपवास रखें। मैं भी कल उनके साथ एक दिन का उपवास रखूंगा | वहीँ आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने जानकारी दी कि दिल्ली में ITO पार्टी मुख्यालय पर पार्टी के पदाधिकारियों, विधायकों और पार्षदों द्वारा किसानों के समर्थन में 14 दिसम्बर को सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक किसानों के समर्थन में सामूहिक उपवास किया जाएगा। आम आदमी पार्टी किसानों की मांगों के समर्थन में पूरी तरह से हर कदम पर किसानों के साथ खड़ी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here