राजस्थान के किसानों को 7 फरवरी से मिलेगा ऋण माफी का प्रमाण पत्र

0
633
views

राजस्थान के किसानों की कर्ज माफी

राजस्थान कृषि ऋण माफ़ी की घोषणा को 45 दिन से ज्यादा हो गया है लेकिन किसानों का अभी तक लोन माफ़ नहीं हुआ है | जैसे – जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है,  वैसे ही किसानों के बीच बेचैनी बढ़ रही है की किसानों की लोन माफ़ी कहीं आचार सहिंता की भेट न चढ़ जाए | किसानों के बीच यह उत्सुकता है की लोन माफ़ी की प्रक्रिया कब शुरू होगी, कितना ऋण माफ़ किया जायेगा और किन किसानों को इस योजना में शामिल किया जायेगा ?

इन सभी बातों पर बिराम देते हुये राजस्थान सरकार 7 फरवरी से सहकारी बैंक के ऋण माफ़ी का प्रमाण पत्र देना शुरू कर देगा | इस सिलसिले में राजस्थान के मुख्य सचिव ने सभी जिलों के कलेक्टर से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये आदेश दे दिया है | इसके तहत प्रदेश के सभी जिलों में 7 फरवरी से ग्राम सेवा सहकारी समितियों में आयोजित होने वाले फसली ऋण माफ़ी के शिविरों में सहकारी बैंकों से जुड़े पात्र किसानों को ऋण माफ़ी प्रमाण पत्र का वितरण किया जायेगा | इस शिविर को सफल बनाने के लिए जिला कलेक्टर को आदेश दिया गया है |

यह भी पढ़ें   कर्जमाफ़ी को गलत ठहराने से पहले जानें क्या कहते हैं किसानों की आत्महत्या के आकड़ें

किसान कहाँ चेक करें उनका ऋण माफ़ हुआ या नहीं

 इसके साथ ही जिस किसान की लोन माफ़ी किया जायेगा उसका देता लोन वेवर पोर्टल पर अपलोड हो जायेगा | इसके लिए जिले के सुचना एवं प्रौधोगिकी विभाग के अधिकारी , सांख्यिक विभाग अधिकारी एवं सहकारिता के अधिकारीयों के बीच में समन्वय सुनिश्चित करने के भी आदेश दे दिया गया है |

जैसा की चुनाव से पहले यह घोषणा किया गया था की सरकार बनने के बाद किसानों की लोन माफ़ किया जायेगा | इस घोषणा को लेकर राजस्थान सरकार ने पिछले वर्ष के दिसम्बर माह में 30 नवम्बर 2018तक के सहकारी, राष्ट्रीय तथा ग्रामीण बैंक का लोन माफ़ कर दिया था | लेकिन प्रक्रिया 7 फरवरी से शुरू किया गया है |

किसान को क्या करना होगा ?

राजस्थान के किसान अपने बैंक खाता वाले शिविर में जाकर ऋण माफ़ी का प्रमाणपत्र जरुर प्राप्त करें | इसके लिए किसान अपने साथ पासबुक लेकर जायें | आपका कर्जमाफ़ हुआ या नहीं देखने के लिए क्लिक करें |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here