सबसे बड़ी खबर ! मध्यप्रदेश के किसानों का हुआ लोन माफ़

1
2440
views

मुख्यमंत्री की शपथ के 1 घण्टे के अन्दर मध्यप्रदेश के किसानों का 2 लाख तक का लोन हुआ माफ़ 

देश में लगातार हो रहे किसानों कि आत्महत्या के बीच एक बड़ी खबर आई है की मध्यप्रदेश में किसानों का लोन माफ़ कर दिया गया है | किसानों के आत्महत्या का मुख्य कारण किसानों पर बैंक का कर्ज था | फसलों की अच्छी भाव नहीं मिलने के कारण किसान कर्ज तले दबा जा रहा था | आज मध्यप्रदेश में कमलनाथ की अगुआई में कांग्रेस की सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लेते हुये किसानों का कर्ज माफ़ कर दिया है |अन्य राज्यों छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान के किसानों के कर्जमाफी की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है उम्मीद है जल्द ही वहां के किसानों के कर्जमाफी की घोषणा जल्द कर दी जाएगी |

इससे पहले देश में हुये पांच राज्यों के चुनाव में कांग्रेस ने मध्य प्रदेश, राजस्थान तथा छतीसगढ़ में जीत दर्ज किया | कांग्रेस ने सभी प्रदेश की जनता के लिए घोषणा पत्र की जगह शपथ पत्र जारी किया था | इस सपथ पत्र में किसानों की लोन माफ़ करने का वचन था | चुनाव के समय कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने किसानों से वादा किया था की अगर कांग्रेस की प्रदेश में सरकार बनती है तो 10 दिन के अन्दर किसानों का कर्ज माफ़ कर दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   कृषक सेवा पोर्टल पर फसली ऋण एवं पीएम-किसान योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेगें

कितना कर्ज है मध्यप्रदेश के किसानों पर

वादे की मुताविक मध्यप्रदेश की राज्य सरकार ने किसानों का 2 लाख कर्ज माफ़ कर दिया है | जिसमें जून 2009 से 31 मार्च 2018 तक के कर्ज माफ़ किया जायेगा | जिससे मध्यप्रदेश के 33 लाख किसान लाभान्वित होंगे | इससे मध्यप्रदेश की सरकार पर 56 हजार करोड़ का बोझ आएगा | अभी राज्य में सहकारी बैंक , राष्ट्रीय बैंक, निजी बैंक तथा ग्रामीण बैंक का कुल कर्जा लगभग 70 हजार का है | जिसमें 56 हजार करोड़ का कर्जा 41 लाख किसानों पर है | 15 हजार का कर्ज NPA (डिफाल्टर) हो चूका है |

आज कांग्रेस के जीत वाले तीनों राज्यों में शपथ ग्रहण था | जिसमें राजस्थान में अशोक गहलोत , मध्यप्रदेश में कमलनाथ तथा छतीसगढ़ में भूपेन्द्र बघेल ने मुख्यमंत्री की शपथ ली | शपथ लेने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सबसे पहले किसानों के लिए लोन माफ़ी का फैसला लिया | उन्होंने कर्ज माफ़ी के दस्तावेज पर  हस्ताक्षर कर दिया |

यह भी पढ़ें   किसानों के लिये1000 करोड़ का स्थिरीकरण कोष

कर्ज माफ़ी का नियम और शर्तें क्या है ?

  1. जून 2009 से 31 मार्च 2018 तक के कृषि कर्ज माफ़ किया गया है
  2. किसानों का 2 लाख तक का अधिकतम कर्ज माफ़ किया गया है |
  3. इस कर्ज माफ़ी में डिफाल्टर (NPA) तथा बिना डिफाल्टर दोनों का कर्ज माफ़ किया गया है |
  4. मध्य प्रदेश के सभी तरह के बैंकों (सहकारी , ग्रामीण बैंक, निजी बैंक तथा राष्ट्रीय बैंक) का लोन माफ़ किया गया है
  5. किसी किसान का एक से ज्यादा बैंक से लोन है तो उस किसान के किसी एक बैंक का लोन माफ़ होगा |
  6. कर्ज माफ़ होने पर किसानों को दुबारा कर्ज मिलेगा |

यह कर्ज माफ़ी अभी केवल मध्य प्रदेश के किसानों के लिए है | कांग्रेस शासित दो और राज्य राजस्थान तथा छतीसगढ़ की सरकार ने अभी तक कर्ज माफ़ी पर फैसला नहीं लिया है लेकिन एसी संभावना है की इन दोनों राज्यों में भी किसानों के लिए खुशखबरी आनेवाली है | अगर ऐसा  होता है तो इन तीनों राज्यों के किसानों के लिए बहुत बड़ी राहत होगी |

मध्यप्रदेश में किसानों का लोन माफ़

किसान समाधान से You-Tube से जुड़ें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here