बारिश एवं ओले से फसल नुकसान होने पर किसान यहाँ करें शिकायत

44
28801
fasal nuksan shikayat
kisan app download

किसान फसल नुकसानी की शिकायत कहाँ करें

बेमौसम बारिश और उसके साथ ओले गिरने से किसानों की खड़ी फसल को काफी नुकसान पहुंचा है |  किसानों की नींद उड़ चुकी है उन्हें समझ नहीं आ रहा है इस मुसीबत से कैसे निपटें | यह मुसीबत ऐसे समय आई है जब किसानों की रबी फसल की कटाई शुरू होने वाली थी | खासकर गेहूं, मसूर, चना, सरसों, अलसी, मटर तथा अन्य फसल के लिए काफी नुकसान हुआ है | रबी मौसम के अंतर्गत आनेवाली दलहनी तथा तिलहनी फसल की कटाई शुरू होने से पहले ही कई किसानों की फसल नष्ट हो गई है | ऐसे में किसानों को आर्थिक सहायता देना बहुत जरुरी है | इसके लिए किसान के पास दो रास्ते हैं, एक तो वे किसान जिनकी फसल का बीमा है दुसरे वह किसान जिनके पास फसल बीमा नहीं है | किसान समाधान देश के सभी राज्यों वे सभी किसानों के लिए जानकारी लेकर आया है जो इस ओला तथा पानी से प्रभावित है |

यह भी पढ़ें   कोरोना संकट: एक महीने में किसानों दिए जाएंगे फसल बीमा के 700 करोड़ रुपये, होगा खरीफ फसलों के बीजों का वितरण

जिन किसान के पास फसल बीमा है वह क्या करें ?

वे किसान जिन्होंने फसल बीमा करवाया हैं वह पहले यह मालूम करें की आप की फसल का बीमा कौन से कंपनी ने किया है | उस कम्पनी के टोल फ्री नंबर पर फोन कर फसल नुकसानी को दर्ज करायें | जहाँ से कम्पनी आप की फसल के सर्वे के लिए करवाएगी और नुकसानी का आकलन करेगी | इसके अतिरिक्त किसानों को अपने तहसील के तहसीलदार, एस.डी.एम. तथा कलेक्टर या जिला कृषि विभाग से लिखित शिकायत करें तथा फसल की सर्वे के लिए आमंत्रित करें  या किसान का जिस बैंक से फसल बीमा हुआ है, वहां पर जाकर एक फार्म को भरे |

फसल बीमा कंपनियों के टोल फ्री नम्बर जानने के लिए क्लिक करें

जिन किसानों का का फसल बीमा नहीं है ?

वैसे किसान जिनके फसल का बीमा नहीं है तथा उनकी फसल ओले तथा पानी गिरने के कारण काफी नुकसान हो गया है | काफी नुकसानी का मतलब यह है कि फसल का नुकसानी 33 प्रतिशत से ज्यादा होना चाहिए | वैसे किसान समूह बनाकर तहसील में एस.डी.एम तथा जिले में कलेक्टर से लिखित शिकायत करें |

यह भी पढ़ें   आंधी बारिश एवं ओलावृष्टि से किसानों को हो रहे नुकसान का आकलन कर जल्द मुआवजा दिया जाए: मुख्यमंत्री

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

44 COMMENTS

  1. नुकसान की भरपाई के लिए उत्तर प्रदेश सरकार क्या कर रही है क्या मुआवजा दे रही है

    • सर अभी तो वहां फसल बीमा के जरिये ही हो रहा है | नुकसान होने पर आप कम्पनी से 48 घंटे के अन्दर सर्वे करवाएं |

    • शिकायत करें सभी किसान और सर्वे करवाएं जल्द

    • अपने जिले में पता करें अप्रूव हुआ है या नहीं |

  2. Aur aapko sar kuchh jankari ho to mujhe jarur bataye kyunki sar mere March 2019 ke paise jama solar pump ke liye per abhi tak Laga Nahin hai

    • जी आपको वहीँ से पता करना होगा | जिले से अप्रूव हुआ है या नहीं |

    • जी फसल बीमा कम्पनी को सूचित करें एवं सर्वे करवाएं |

    • किस राज्य से हैं ? बीमा कंपनी को सूचित करें |

  3. धान को चूहे और फफूंदी लग गई है कीटनाशक की दुकान भी बंद है लाकडाउन में उूपर से पानी गिर गया 200 कुंडल धान सटकर बदबू मार रही है नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करेगी या सरकार

    • कटाई हुई है या नहीं ? फसल बीमा कम्पनी को सूचित कर सर्वे करवाएं | कीटनाशक दुकानें खुलेंगी सर |

  4. Gehu karne layak Ho gaya h harvester ka Drawar lock down m h harvester kese chalega

    • हार्वेस्टर को अनुमति है | आप बुलाबा सकते हैं |

  5. पानी भरने के कारण गेहूं एक फसल नष्ट हो गई है

    • किस राज्य से हैं ? फसल बीमा कम्पनी को एवं यहाँ के कृषि अधिकारीयों को सूचित करें |

  6. Sir hamare Barabanki jile me olavrishti se fasal ka nuksan hua hai kya sarkar dvara shayta Rashi di gyi hai ya nhi

  7. sir mai up se hu aur Mera fasal 50% Tak kharab ho gya hai aur Maine koi beema nahi karaya hai.online website bataiye muvavje ke liye.thanks

    • कृषि अधिकारी को सूचित करें | लेखपाल से कहकर सर्वे करवाएं | फसल बीमा अभी नहीं होगा | उसकी एक डेट होती है करवाने की | दी गई वेबसाइट पर होता है
      https://pmfby.gov.in/

    • किस राज्य से हैं फसल बीमा कम्पनी को सूचित करें | सर्वे करवाएं |

  8. दुर्गविजय यादव आजमगढ़ उत्तर प्रदेश का निवासी हूँ। वर्ष 2019 में धान का प्रधानमन्त्री फसल बीमा हुआ था। बीमा कंपनी के शाखा कार्यालय आजमगढ़ के शाखा प्रबंधक (जिनका मो. नं. 9415674498है) का कहना है कि सरकार का आदेश है इस साल बाढ़ से नुकसान होने वाली धान की फसल कभर नहीं होगी।क्या यह सही है ? यदि नहीं, तो मार्गदर्शन करने की कृपा करें।

    • नुकसानी के बाद आपका सर्वे हुआ था या नहीं | यदि आपके जिले में फसल अधिसूचित हैं तो दिया जायेगा |

    • जी सर, बीमा हो तो फसल बीमा कंपनी को सूचित करें |

    • जी किस राज्य से हैं ? आपका फसल बीमा हुआ है या नहीं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here