back to top
Friday, May 24, 2024
Homeकिसान समाचारकिसान इन कार्यों के लिए ले सकते हैं किसान क्रेडिट कार्ड...

किसान इन कार्यों के लिए ले सकते हैं किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) पर लोन

किसानों को कृषि एवं सम्बंधित क्षेत्र की गतिविधियों के लिए आवश्यक पूँजी निवेश की पूर्ति के लिए किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना के तहत कम ब्याज दरों पर ऋण उपलब्ध कराया जाता है। समय-समय पर अधिक से अधिक किसानों को योजना का लाभ पहुँचाने के लिए सरकार द्वारा योजना में कई परिवर्तन किए गए हैं। अब किसान KCC पर फसली ऋण के अलावा अन्य कार्यों के लिए भी ऋण ले सकते हैं। लोकसभा में श्री सुनील कुमार पिंटू के द्वारा पूछे गए सवालों के जबाब में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने किसान क्रेडिट योजना में किए गए बदलावों के बारे में जानकारी दी।

केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में बताया कि भारतीय रिज़र्व बैंक ने 4 जुलाई 2018 में परिपत्र जारी किया है। जिसमें इस योजना का उद्देश्य किसानों व्यक्तिगत/ संयुक्त उधार कर्ताओं जो स्वयं किसान हैं, काश्तकार किसान, मौखिक पट्टेदार और बटाईदार, स्वयं सहायता समूहों या काश्तकार किसानों, बटाईदारों आदि सहित किसानों के संयुक्त देयता को उनकी खेती और अन्य जरूरतों के लिए लचीली और सरल प्रक्रिया के साथ एकल खिड़की के तहत बैंकिंग प्रणाली से पर्याप्त समयवद्ध सहायता प्रदान करना है।

यह भी पढ़ें   किसान इस तरह ले सकते हैं पेड़ी गन्ने की अधिक पैदावार

किसान क्रेडिट कार्ड पर किसान इन कार्यों के लिए ले सकते हैं लोन

  • फसलों की खेती के लिए अल्पकालिक ऋण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए;
  • फसल कटाई के बाद के लिए खर्च;
  • उपज विपणन ऋण;
  • किसान परिवार की खपत की आवश्यकताएँ;
  • कृषि परिसम्पत्तियों और कृषि सम्बंधित गतिविधियों के रख-रखाव के लिए कार्यशील पूँजी;
  • इसके अलावा कृषि और सम्बद्ध गतिविधियों के लिए निवेश ऋण की आवश्यकता।

4 फरवरी, 2019 से किसान क्रेडिट कार्ड को पशुपालन और मत्स्य पालन में लगे किसानों को उनकी कार्यशील पूँजी की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भी ऋण देने की व्यवस्था कर दी गई है। किसान 3 लाख रुपए तक के ऋण के लिए प्रसंस्करण शुल्क, निरीक्षण, बही फोलियो शुल्क, सेवा शुल्क सहित सभी शुक्ल माफ कर दिए गए हैं। RBI द्वारा लघु अवधि के कृषि-ऋण के लिए सम्पर्श्विक मुक्त ऋण सीमा को 1 लाख रुपए से बढ़ाकर 1.60 लाख रुपए कर दिया गया है।

किसान क्रेडिट कार्ड पर लगने वाला ब्याज

भारत सरकार किसानों को रियायती ब्याज दर पर अल्पकालीन कृषि–ऋण प्रदान करने की दृष्टि से ब्याज छुट स्कीम का भी कार्यान्वयन कर रही है | योजना के तहत, कृषि और अन्य संबद्ध गतिविधियों में जुड़े किसानों के लिए 9% की बेंचमार्क दर पर केसीसी के माध्यम से 3 लाख रूपये तक के लघु अवधि फसल ऋण उपलब्ध है | भारत सरकार बेंचमार्क दर पर 2% ब्याज छुट प्रदान करती है | ऋणों के शीघ्र और समय पर अदायगी के एवज में किसानों को अतिरिक्त 3% की छुट भी दी जाती है, इस प्रकार प्रभावी ब्याज दर घटकर 4% प्रति वर्ष हो जाती है |

यह भी पढ़ें   मूंग एवं उड़द में इल्ली एवं कीटों के नियंत्रण के लिए किसान सिर्फ एक बार करें इस दवा का छिड़काव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर