किसान इन दरों पर सब्सिडी पर खरीदें बुआई के लिए प्रमाणित एवं उन्नत बीजों की किस्में

2
2637
views
anudan par pramanit unnat beej mp

किसान रबी फसलों प्रमाणित बीज अनुदान पर खरीदें

केंद्र सरकार के द्वारा रबी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया गया है तो दूसरी तरफ राज्य सरकार के द्वारा किसानों के लिए सब्सिडी पर रबी फसल का बीज दिया जा रहा है | इसके लिए राज्य सरकार ने अपने – अपने राज्य के किसानों के लिए बीज का दर तय कर दी है बिहार सरकार किसानों के लिए रथ से रबी फसल की जानकारी के साथ बीज भी दे रही है तो मध्य प्रदेश किसानों के लिए रबी फसल का सब्सिडी तथा बीज का मूल्य तय कर दिया है | इस बार मध्य प्रदेश में किसानों को सब्सिडी का पैसा सीधे बैंक खाते में दिया जायेगा | किसान समाधान बीज का मूल्य तथा सब्सिडी की पूरी जानकरी लेकर आया है |

सरकार ने रबी फसल के बीज का क्या मूल्य तय किया है 

मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने किसानों के लिए रबी फसल सब्सिडी पर देना का फैसला किया है उसके लिए अलग – अलग किस्म के बीज का चुनाव किया गया | सभी बीज 10 वर्षों के लिए तैयार किया गया है | किसान राज्य बीज एवं फार्म विकास निगम, सेवा सहकारी समिति तथा बीज संघ की सदस्य बीज उत्पादक समिति से अनुदान वाला प्रमाणित बीज खरीद सकते हैं।बीज वितरण पर अनुदान सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा किया जाएगा। इन सभी बीजों का मूल्य इस प्रकार है:-

  1. गेहूं कि ऊँची जाती – 4,000 रुपया प्रति किवंटल
  2. गेहूं कि बौनी जाती – 3700 रूपये प्रति किवंटल
  3. चना के लिए – 6450 रुपया प्रति किवंटल
  4. मसूर के लिए – 6350 रुपया प्रति किवंटल
  5. मटर तथा अर्किल के लिए 4450 रुपया प्रति किवंटल तय किया गया है |
यह भी पढ़ें   इस राज्य में निर्मित कृषि यंत्रों पर अब 70 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाएगी

यह सभी बीज दस वर्ष तथा अधिक की अवधि के लिए हैं |

किसानों को प्रमाणित बीज पर कितनी सब्सिडी दिया जाएगा ?

किसानों को बीज पर मध्य प्रदेश सरकार सब्सिडी दे रही है | इसके लिए सभी फसल का सब्सिडी मूल्य तय किया गया है | यह इस प्रकार है |

  1. किसानों को गेहूं ऊँची जाती (दस वर्ष तक) 750 रूपये प्रति किवंटल,
  2. गेहूं ऊँची जाति (दस वर्ष से अधिक) 100 रूपये प्रति किवंटल
  3. चना (दस वर्ष तक) – 1300 रूपये प्रति किवंटल
  4. चना (दस वर्ष से अधिक) 500 रूपये प्रति किवंटल,
  5. मसूर (दस वर्ष तक) 3200 रुपया प्रति किवंटल,
  6. मसूर (दस वर्ष से अधिक) पर 1500 रुपया प्रति किवंटल अनुदान राशि दी जाएगी |
  7. मटर तथा अर्किल पर अनुदान नहीं दिया जाएगा |

सब्सिडी लेने के लिए नियम एवं शर्तें ?

फसलों के प्रमाणित बीज वितरण पर अनुदान प्रति किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर भूमि के लिए आवश्यक बीज की मात्र पर ही तय की गई है | डीबीटी के लिए किसान को आवश्यक दस्तावेज भू – अधिकार पुस्तिका, आधार कार्ड और बैंक खाता पासबुक की छायाप्रति संबंधित संस्था में जमा करनी होगी |

यह भी पढ़ें   कई बीज कंपनियां किसानों के साथ कर रही धोखाधड़ी

किसान जिलेवार स्थित बीज एवं फर्म विकास निगम के ऑफिस 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here