back to top
शनिवार, जून 15, 2024
होमकिसान समाचारगेहूं बेचने के बाद भी यदि अभी तक पैसे नहीं मिलें...

गेहूं बेचने के बाद भी यदि अभी तक पैसे नहीं मिलें हैं तो किसान फटाफट करें यह काम

गेहूं खरीद का भुगतान

वर्ष 2022–23 रबी सीजन के लिए गेहूं उपार्जन का काम तेज़ी से चल रहा है अधिकांश राज्यों में गेहूं की सरकारी खरीद की अंतिम तिथि 31 मई है| खुले बाज़ार में अच्छे भाव मिलने से इस वर्ष अधिकांश किसानों ने गेहूं की सरकारी खरीद में हिस्सा नहीं लिया है जिसके चलते इस वर्ष पिछले वर्ष के मुकाबले काफी कम गेहूं की खरीदी सरकार के द्वारा की गई है। फिर भी अभी भी ऐसे कई किसान हैं जिन्होंने सरकार को गेहूं बेचा है परंतु किन्ही कारणों से उन्हें अभी तक उसका पैसा नहीं मिला है।

जिसको देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य के किसानों को भुगतान संबंधित जानकारी के लिए पोर्टल पर सुविधा प्रदान करने की व्यवस्था की है। साथ यदि किसानों के बैंक खाते में किसी तरह की गलती है या बैंक खाता बंद हो गया है उसके सुधार का मौका भी किसानों को दिया गया है।

किसान ऑनलाइन मोबाइल पर देखें भुगतान की स्थिति

मध्य प्रदेश सरकार किसानों से गेहूं न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद रही है। गेहूं खरीदी के बाद पैसे का भुगतान 2 दिनों में कर दिया जाता है। इसके बावजूद भी यदि किसी किसान को भुगतान नही हुआ है तो वह अपने मोबाईल नंबर से भुगतान संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए किसान स्वयं e-uparjan mp पोर्टल पर रबी 2022–23 पर किसान की जानकारी के विकल्प पर अपना मोबाईल नंबर प्रविष्ट कर भुगतान की स्थिति देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें   बिना लाइसेंस खाद-बीज और दवा बेचने वाले दुकानदारों पर की जाएगी कार्रवाई

इसके अतिरिक्त किसान JIT mp पोर्टल पर किसान अपना पंजीयन कोड दर्ज कर राशि के भुगतान के सफल या असफल होने की स्थिति और किन कारणों से भुगतान असफल हुआ है, की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। भुगतान असफल होने की स्थिति में मोबाईल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से अवगत भी कराया जाता है।

बैंक खाते में सुधार के लिए किसान करें यह काम

मध्य प्रदेश के प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज अहमद किदवई ने बताया कि भुगतान प्रक्रिया को सहज और सरल बनाने के उद्देश्य से समर्थन मूल्य पर गेहूँ विक्रय करने वाले ऐसे किसान, जिनके बैंक खाते आधार से लिंक नहीं है, खाता बंद है, जनधन के खाते में लिमिट निहित है या खातेदार की मृत्यु होने आदि कारणों से भुगतान लंबित है, अपना बैंक खाता उपार्जन केंद्र, जिला सहकारी एवं केंद्रीय बैंक और जिला खाद्य कार्यालय में पोर्टल पर एंट्री करवाएँ, जिससे उनके बैंक खाते में राशि का भुगतान किया जा सके।

यह भी पढ़ें   खेतों की बिना जुताई के ही किसान हैप्पी सीड ड्रिल से कर रहे हैं मूंग की बुआई

गेहूं खरीदी का समय पर सही भुगतान हो इसके लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है। राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष की स्थापना खाद्य संचालनालय में की गई है, जिसका दूरभाष क्रमांक 0752551474 है। किसानों को भुगतान की तकनीकी समस्या के निराकरण के लिए एनआईसी कार्यरत है | 

अभी तक कितने किसानों को किया गया गेहूं खरीद का भुगतान

मध्य प्रदेश में रबी विपणन वर्ष 2022-23 में समर्थन मूल्य पर 5 लाख 72 हजार 154 किसानों से 44 लाख 45 हजार 937 मीट्रिक टन गेहूँ का उपार्जन किया गया है। गेहूँ उपार्जन का कार्य 31 मई 2022 तक किया जाएगा। समर्थन मूल्य पर गेहूँ विक्रय करने वाले 4 लाख 41 हजार 125 किसानों को 6 हजार 787 करोड़ रुपए का भुगतान उनके बैंक खाते में ऑनलाइन किया जा चुका है। शेष किसानों के भुगतान की कार्यवाही प्रचलन में है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर