यूरिया के साथ दुकानदार द्वारा कोई और खाद या कुछ और सामग्री देने पर करें शिकायत, होगी कार्यवाही

2
22159
views

यूरिया के साथ सल्फर देने पर लायसेंस निलंबित

किसान भाई अगर आप यूरिया खरीदने जाते हैं और सरकारी दुकानदार (सोसायटी) या फिर निजी दुकानदार आप को यूरिया के साथ कोई और खाद जैसे DAP, जिंक , सल्फेट या किसी तरह कि खाद या दवा देता हैं तो उसे नहीं लें | अगर आप को मजबूर करता है कि दुसरे कंपनी के दूसरी खाद या कीटनाशक खरीदना ही होगा तो आप इसकी शिकायत करें, क्योंकि यह नियम के विरुद्ध है |

ऐसा दुकानदार या सोसायटी अधिक मुनाफा कमाने के लिए दुसरे कंपनी के प्रोडक्ट को बेचते हैं |  अगर कोई दुकानदार ऐसा करता है तो वह उर्वरक नियंत्रण आदेश–1985 की धारा – 3,4,5 का उलंघन कर रहा है |

यूरिया के साथ सल्फर देने पर लायसेंस रद्द

ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश के अशोक नगर में का आया है | जहाँ एक स्थानीय न्यूज चैनल के द्वारा एक जानकारी दी गई थी कि अशोक नगर में एक यूरिया विक्रय केंद्र पर यूरिया के साथ ही सल्फ़र खरीदने को मजबूर किया जा रहा है | इसके बाद जाँच में मामला सही पाया गया है | इसके बाद इस केंद्र पर उर्वरक नियंत्रण आदेश–1985 की धारा – 3,4,5, का उलंघन करने के कारण कार्यवाही करते हुये उसका जिला अशोकनगर के अनुज्ञापन अधिकारी एवं उप-संचालन किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने उर्वरक फुटकर विक्रय लायसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है | साथ ही, संबंधित को निलंबन आदेश के संबंध में आदेश जारी होने की दिनांक से 15 दिन के अन्दर अपना अभ्यावेदन प्रस्तुत करने को कहा गया है | ऐसा नहीं करने पर उर्वरक लायसेंस निरस्त किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   यदि धान की फसल का सही दाम चाहिए तो 31 अगस्त से पहले यह काम करें

जारी किये गए निर्देश

इसके बाद मध्य प्रदेश संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने सभी जिलों के उप-संचालकों को निर्देशित किया है कि किसी भी स्थिति में यूरिया के साथ किसानों को डीएपी अथवा अन्य सामग्री प्रदान नहीं की जाए | इस प्रकार की जानकारी प्राप्त होने पर संबंधित के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही की जाए |

जिलों को जारी निर्देश में कहा गया है कि विभिन्न माध्यमों से यह जानकारी प्राप्त हो रही है कि कुछ उर्वरक कम्पनियां, डीलर और विक्रेता किसानों को यूरिया के साथ डीएपी अथवा अन्य आदान सामग्री प्रदाय कर रहे हैं इसलिए इसे रोका जाए तथा उस पर कार्यवाही किया जाए|

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

  1. kya yeh..kanoon UP me bhi lagu hota h
    hmare idhar UP mai ganna sociaty..urea ke saath anya khad lene ke liye badhya karti h…hme kya karna chahiye

    • जी आप अपने जिले के कृषि विभाग में संपर्क कर शिकायत करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here