किसानों को यूरिया एवं अन्य खाद न मिलने या अधिक मूल्य पर मिलने पर शिकायत हेतु यहाँ कॉल करें

0
2538
fertilizer complaint number

उर्वरक की शिकायत हेतु सहायता नंबर

खरीफ फसल की बुवाई के बाद दूसरा काम निराई तथा खाद छिडकाव का होता है | रबी फसल के मुकाबले खरीफ फसलों में उर्वरकों की ज्यादा जरूरत होती है | इसको देखते हुए केंद्र सरकार पहले से ही राज्यों को उर्वरक भेज देती हैं | इसके बावजूद भी कुछ उर्वरक विक्रेता कालाबाजारी करके उर्वरक का मूल्य बढ़ा देते है या मिलावटी उर्वरक बेचने लगते हैं | जिससे किसानों को आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ता है | इस स्थित से निपटने के लिए राज्यों के कृषि विभाग द्वारा उर्वरक की कालाबाजारी पर छापामारी कर कार्यवाही की जाती है |

बिहार में कृषि मंत्री के अनुसार रासायनिक उर्वरक की कोई कमी नहीं है | राज्य में जरूरत के अनुसार उर्वरक उपलब्ध है | इसके बावजूद भी यदि कोई उर्वरक विक्रेता कालाबाजरी करता है तो कृषि विभाग उस पर कारवाई कर रहा है | कृषि मंत्री ने उर्वरक की जानकारी तथा इस माह कृषि विभाग के द्वारा की गई कारवाई की जानकारी दी है |

यह भी पढ़ें   किसानों को जल्द दिया जाएगा अधिक बारिश से हुए फसल नुकसान का मुआवजा

राज्य में उपलब्ध यूरिया

माननीय कृषि मंत्री ने यह स्पष्ट किया है कि राज्य में उर्वरक की कोई कमी नहीं है | खरीफ 2021 मौसम में यूरिया की माह अप्रैल से जुलाई तक 4.80 लाख मीट्रिक टन की आवश्यकता के विरुद्ध भारत सरकार द्वारा 31 जुलाई तक 4.50 लाख मेट्रिक टन कराया गया है | अगस्त माह के लिए भारत सरकार द्वारा 2.73 लाख मेट्रिक टन यूरिया का आवंटन उपलब्ध कराया गया है |

कृषि विभाग ने उर्वरक विक्री केन्द्रों पर की कार्यवाही

बिहार के कृषि विभाग द्वारा राज्य में उर्वरक उपलब्ध करने के लिए नियमित रूप से छापामारी कर दोषियों पर कड़ी करवाई की जा रही है | खरीफ 2021 में अभी तक कुल 1581 छापामारी की गई है, जिसमें से 273 विक्रेताओं की अनुज्ञप्ति निलंबित, 114 अनुज्ञप्ति रद्द, 29 पर प्राथमिकी तथा 486 विक्रेताओं से स्पष्टीकरण की माँग की गई है | सभी जिला में उर्वरक निगरानी समिति की बैठक जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में लगातार की जा रही है जिसमें खाद की बिक्री, मूल्य एवं उपलब्धता की नियमित समीक्षा की जाती है |

यह भी पढ़ें   किसान 30 जून तक बेच सकेंगे समर्थन मूल्य पर चना, मसूर एवं सरसों की उपज

उर्वरक समबन्धित किसी भी शिकायत के लिये सहायता नम्बर

राज्य के सभी किसान भाइयों को यह सूचित किया जा रहा है कि राज्य तथा जिलों में उर्वरकों की कोई कमी नहीं है | सभी किसानों को खाद बोरी पर प्रिंट रेट पर ही दी जाएगी यदि कोई बिक्रेता अधिक दामों पर बेचता है तो किसान भाई इसकी शिकायत कर सकते हैं | बिहार में यूरिया खाद का दाम 266.50 रुपये प्रति बैग (45 किलो) है | कोई कठिनाई या शिकायत की स्थिति में कृषि निदेशालय के दूरभाष सं. 0612–2233555 पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक कॉल कर सकते हैं, अथवा अपने जिला पदाधिकारी / जिला कृषि पदाधिकारी से संपर्क करें | साथ ही किसानों से अनुरोध है कि किसान खाद खरीदने पर रसीद अवश्य लें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.