बाजरे की समर्थन मूल्य पर खरीद अक्टूबर से

0

बाजरे की समर्थन मूल्य पर खरीद अक्टूबर से

खरीफ वर्ष 2018-19 में बाजरे की समर्थन मूल्य पर खरीद अक्तूबर से प्रारंभ की जाएगी | हरियाणा के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री श्री कर्णदेव कांबोज ने कहा कि प्रदेश में बाजरे की खरीद एक अक्तूबर से शुरू की जाएगी, जिसके लिए विभाग ने इस वर्ष करीब एक लाख टन बाजरा खरीदने का लक्ष्य रखा है।

खरीद के उपरान्त इस बाजरे को दिसंबर, जनवरी व फरवरी माह में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उपभोक्ताओं को वितरित किया जाएगा। गत वर्ष हमारी सरकार ने 31,449 टन बाजरे की खरीद की गई थी। खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री ने कहा कि किसानों को चाहिए कि वे अपने बाजरे की फसल बोने का पंजीकरण संबंधित क्षेत्रों के कृषि विभाग में करवाए ताकि उन्हें अपनी फसल बेचने में कोई दिक्कत न आए। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा बाजरे के न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्घि की गई है, जिसके कारण राजस्थान व अन्य प्रदेशों के किसानों को हरियाणा में बाजरा बेचने से रोकने व व्यपारियों की कालाबाजारी को बंद करने के लिए सरकार उपयुक्त कदम उठाएंगी। इसके लिए इस बार केवल उन्हीं किसानों का बाजरा खरीदा जाएगा, जो अपनी फसल के पंजीकरण के दस्तावेज प्रस्तुत करेंगे।

यह भी पढ़ें   इफको ने DAP, यूरिया एवं अन्य खाद के बढे हुए दामों की ख़बरों को लेकर क्या कहा
बाजरा में उर्वरक का प्रयोग, खरपतवार नियंत्रण एवं रोग का उपचार किस प्रकार करें ?

श्री कांबोज ने कहा कि इसके अलावा राज्य के बाजरा उत्पादक जिलों के सभी उपायुक्तों एवं कृषि एवं कल्याण विभाग के निदेशक को मंडियों में बाजरे की आवक बारे में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि यदि मंडियों में बाजरे की आवक तय समय से पहले होती है तो किसानों की मांग पर बाजरे की खरीद सिंतबर माह में शुरू कर दी जाएगी ताकि किसानों को कोई दिक्कत न हो।

Previous articleकिसान बिना बिजली के फव्वारा और ड्रिप पद्धति से कर सकेंगे सिंचाई
Next articleखेती के लिए अनुदान पर सोलर पम्प लेने के लिए अभी आवेदन करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here