चना, मसूर, सरसों की खरीदी समर्थन मूल्य पर

5674

चना, मसूर, सरसों की खरीदी समर्थन मूल्य पर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्य सरकार किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य देने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना में लहसुन और प्याज की खरीदी की जाएगी, जबकि  चना, मसूर और सरसों की उपज भारत सरकार द्वारा तय न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी जाएगी।

आज यहां मंत्रालय में मीडिया से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि भारत सरकार  मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना पर सकारात्मक रुख अपनाते हुए इसे देश के लिए लागू करने पर विचार कर रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने इस पर विचार करने के लिए  गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स का गठन किया है। यह ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स भावांतर भुगतान योजना पर चर्चा कर इसे पूरे देश के लिए लागू करने का निर्णय लेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसलिए तय किया गया है कि चना, मसूर और सरसों की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाएगी। लहसुन और प्याज की खरीदी भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सूखे के बावजूद इन फसलों का प्रदेश में बंपर उत्पादन हुआ है। राज्य सरकार किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह भी पढ़ें   19 लाख किसानों को आज दी जाएगी किसान न्याय योजना के तहत 1500 करोड़ रुपये की दूसरी किश्त

जिन किसानों ने भावान्तर भुगतान योजना में चना, सरसों और मसूर की फसलों के लिए  अपना पंजीयन कराया है, उनका पंजीयन समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए वैध रहेगा। जो किसान पंजीयन कराने से छूट गए हैं, वे 31 मार्च तक अपना पंजीयन न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए करवा सकते हैं।  सरकार  समर्थन मूल्य पर फसल खरीदने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि 24 मार्च को शाम 7.00 बजे वे प्रदेश के किसानों को इस विषय पर संबोधित करेंगे।

उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा चने का न्यूनतम समर्थन मूल्य 4400 रूपये प्रति क्विंटल, मसूर का 4250 रूपये प्रति क्विंटल और सरसों का 4000/- रूपये प्रति क्विंटल तय किया है।

पिछला लेखकपास में बिजाई के लिए बीटी कॉटन की हाइब्रिड किस्में 
अगला लेखयुद्ध और शान्ति के बीच जल – भाग दो

6 COMMENTS

  1. नमस्कार सर सर मेरा भावंतर मैसेज नहीं आया है यहां तक की सारे मैसेज आ चुके हैं गांव वालों के लेकिन मेरे मैसेज का कोई पता नहीं है तो मैं क्या करूं सर प्लीज हेल्प मी

    • हाँ सर ग्राम सेवक, पंचायत, मंडी में भी करवा सकते हैं |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.