18000 रुपये प्रति हेक्टेयर तक का कृषि इनपुट अनुदान लेने के लिए 30 नवम्बर तक करें आवेदन

12381
krishi input subsidy application

कृषि इनपुट अनुदान हेतु आवेदन

इस वर्ष अधिक वर्षा एवं बाढ़ के चलते किसानों की फसलों को काफी नुकसान हुआ है साथ ही ऐसे भी कई किसान है जो लगातार बारिश के कारण खेतों में फसल की बुआई भी नहीं कर पाए और उनकी भूमि परती रह गई थी | किसानों को हुए इस नुकसान की भरपाई के लिए बिहार सरकार किसानों को कृषि इनपुट अनुदान दे रही है, जिसके लिए आवेदन अभी चल रहे हैं | जो किसान अभी तक आवेदन नहीं कर पाए हैं ऐसे किसानों के लिए सरकार ने आवेदन की डेट को आगे बढ़ा दिया है |

कृषि इनपुट अनुदान के लिए किसान कब तक कर सकेंगे आवेदन

बिहार में किसानों को फसल क्षति के तौर पर कृषि इनपुट अनुदान दिया जा रहा है, इसके लिए आवेदन करने का अंतिम तिथि पहले 25 नवम्बर 2021 थी परन्तु बहुत से किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करने से अभी वंचित रह गए थे जिसको देखते हुए सरकार ने आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 30 नवम्बर तक कर दिया है |

किसान ऑनलाइन आवेदन डी.बी.टी. के माध्यम से सुबह 7:00 बजे से लेकर रात्रि 8:00 बजे तक कर सकते हैं | पहले यह आवेदन सुबह 9:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक ही किए जा सकते थे | इसके अलावा ऑनलाइन आवेदन के लिए प्रमंडलवार डी.बी.टी. पोर्टल पर अलग से लिंक की व्यवस्था की जा रही है, ताकि कम समय में अधिक से अधिक किसानों को आवेदन करने में आसानी हो सके तथा सर्वर पर लोड भी कम किया जा सके |

यह भी पढ़ें   बाढ़ से हुए नुकसान का आकलन कर किसानों को जल्द दिया जायेगा अनुदान: कृषि मंत्री

कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत दिया जाने वाला अनुदान

योजना के अनुसार किसानों को फसल क्षति के लिए वर्षाश्रित (असिंचित) फसल क्षेत्र के लिए 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर, सिंचित क्षेत्र के लिए 13,500 रूपये प्रति हेक्टेयर तथा शाश्वत फसल (गन्ना सहित) के लिए 18,000 रूपये प्रति हेक्टेयर की दर से कृषि इनपुट अनुदान दिया जाएगा | इसी प्रकार परती भूमि के लिए भी 6,800 रूपये प्रति हेक्टेयर की दर से कृषि इनपुट अनुदान दिया जाएगा |

कृषि इनपुट अनुदान प्रति किसान अधिकतम दो हेक्टेयर के लिए ही देय होगा तथा किसान को इस योजना के अंतर्गत फसल क्षेत्र के लिए न्यूनतम 1,000 रूपये अनुदान दिया जाएगा | फसल क्षति के तौर पर दिया जाने वाला कृषि इनपुट अनुदान सभी प्रभावित रैयत एवं गैर रैयत किसानों को दिया जायेगा |

अभी तक कितने किसानों ने किया है आवेदन?

खरीफ सीजन-2021 में परती भूमि तथा बाढ़ एवं अतिवृष्टि से प्रभावित किसानों के लिए कृषि इनपुट अनुदान योजना चलाई जा रही है | इसके तहत 30 जिलों के 11,45,745 किसानों ने कृषि इनपुट अनुदान का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया है तथा परती भूमि के कारण हुई क्षति से प्रभावित 17 जिलों के 93,699 किसानों ने अभी तक ऑनलाइन आवेदन किया है |

यह भी पढ़ें   सरकार किसानों को देगी लागत का 50 प्रतिशत मुनाफा, जानिए फ़सलों के नए समर्थन मूल्य

कृषि इनपुट अनुदान योजना के तहत आवेदन कहाँ करें ?

किसान कृषि इनपुट अनुदान हेतु ऑनलाइन आवेदन 30 नवम्बर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं | इसके लिए किसान के पास 13 नंबर की पंजीयन संख्या होना आवश्यक है | अगर किसी किसान के पास यह नंबर नहीं है तो वह https://dbtagriculture.bihar.gov.in/RegFarmer/ पर जाकर पंजीयन करा सकते हैं | इससे किसानों को 13 नंबर की एक पंजीयन संख्या मिलेगी | किसान उस पंजीयन संख्या के 24 घंटे के बाद कृषि इनपुट सब्सिडी के लिए आवेदन कर सकते हैं | जिस किसान के पास पहले से 13 नंबर का पंजीयन संख्या है वह किसान http://dbtagriculture.bihar.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं |

पिछला लेखअब सरकार किसानों से गोबर खरीदकर करेगी प्राकृतिक पेंट का निर्माण
अगला लेखफसल खराबे से प्रभावित किसानों को अनुदान देने के लिए राज्य सरकार केंद्र से मांगेगी 2668 करोड़ रुपये की मदद

6 COMMENTS

    • जी सर आपको राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के तहत अनुदान दिया जायेगा |https://kisansamadhan.com/apply-by-october-31-to-get-a-grant-of-rs-9-thousand-per-acre-under-kisan-nyay-yojana/ दी गई लिंक पर देखें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.