फार्म मशीनरी, ट्रैक्टर मकैनिक्स एवं मधुमक्खी पालन आदि विषयों पर प्रशिक्षण हेतु आवेदन करें

0
2855
Farm machinery tractor beekeeping training free

फार्म मशीनरी, ट्रैक्टर मकैनिक्स एवं मधुमक्खी पालन किसान प्रशिक्षण

किसानों को कृषि के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए, साथ ही साथ उनकी आय के साधन बढ़ाने के लिए कृषि विश्वविध्यालय केंद्र तथा राज्य सरकारें योजनाओं के माध्यम से समय–समय पर प्रशिक्षण आयोजित करते रहते हैं | किसानों को नवाचार हेतु प्रेरित करने के लिए समय-समय पर अलग अलग विषयों पर प्रशिक्षण दिया जाता है | इस प्रशिक्षण का लक्ष्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार पैदा करना एवं किसानों की आय बढ़ना रहता है जिससे किसान परम्परागत खेती से अलग हटकर खेती की नई तकनीक को अपनाकर आधुनिक खेती कर सकें | देश में इसके लिए कौशल विकास योजना के तहत कृषकों को नया उद्यम प्रारंभ करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है |

इसके तहत केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही कौशल विकास योजना के अंतर्गत बिहार के डॉ.राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविध्यालय, पूसा के अंतर्गत प्रशिक्षण दिया जा रहा है | यह प्रशिक्षण इसी माह से शुरू हो रहा है, जिसमें बिहार के युवा किसान भाग ले सकते हैं |  किसान समाधान कौशल विकास प्रशिक्षण योजना की पूर्ण जानकारी लेकर आया है |

यह भी पढ़ें   राजस्थान में समर्थन मूल्य पर गेहूं, सरसों तथा चना बेचने के लिए कब एवं कैसे करवाएं पंजीयन

प्रशिक्षण (Training)  किन विषयों पर होगी

डॉ. राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविधालय, पूसा द्वारा कौशल विकास प्रशिक्षण योजना के अंतर्गत विभिन्न विषयों पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है |

  1. ट्रैक्टर मकैनिक्स
  2. मधुमक्खी पालन
  3. फार्म मशीनरी रखरखाव

फार्म मशीनरी, ट्रैक्टर मकैनिक्स एवं मधुमक्खी पालन प्रशिक्षण कब से

ट्रेक्टर मकेनिंक्स एवं फार्म मशीनरी के प्रशिक्षण 15 फरवरी 2020 से शुरू किया जायेगा वहीँ मधुमक्खी पालन विषय पर प्रशिक्षण 15 मार्च 2020 से दिया जाएगा | इसमें इस बात का ध्यान रखना होगा की कोई भी प्रतिभागी किसी एक प्रशिक्षण में भाग ले सकते हैं |सभी प्रशिक्षण 30 दिनों के लिए अर्थात एक माह के लिए हैं | प्रत्येक दिन 8 घंटे की तक सभी तरह की बारीकियां सिखाई जाएगी | कुल मिलाकर 30 दिनों में 240 घंटे का कोर्स है | प्रशिक्षण प्रत्येक दिन प्रातः 9 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी |

इस प्रशिक्षण में कैसे भाग ले सकते हैं ?

इस प्रशिक्षण में कोई भी किसान जो बिहार से संबंधित हैं वह भाग ले सकते हैं | इसके लिए जल्द से जल्द डॉ. राजेन्द्र प्रसाद कृषि विश्वविध्यालय से संपर्क कर पंजीकरण करवा सकते हैं | पंजीकरण के समय रु. 1000 /- जमा करना होगा जो प्रशिक्षण के बाद सरकार आपके बैंक खाते में लौटा देगी |

यह भी पढ़ें   पराली (पुआल) जलाने पर किसानों को नहीं मिलेगा 3 वर्ष तक सरकारी योजनाओं का लाभ
नोट: – बीच में प्रशिक्षण छोड़ने पर पैसा वापस नहीं होगी |

प्रशिक्षण (Training) नियम और शर्ते 

  • पहले आओ पहले पाओ के आधार पर उम्मीदवार का चयन किया जाएगा |
  • प्रशिक्षण अवधि सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक होगी |
  • पंजीकरण के समय आधार कार्ड, बैंक पासबुक एवं मैट्रिक प्रमाण–पत्र की छायाप्रति जमा करना होगा |
  • स्थानीय प्रशिक्षणार्थी घर से आना–जाना कर सकते हैं एवं दूर रहने वालों को ठहरने की व्यवस्था किसान घर में होगी |
  • प्रशिक्षण के अन्त में परीक्षा की व्यवस्था होगी, परीक्षा में वही प्रिशिक्षणार्थी को शामिल किया जायेगा जिनकी उपस्थिति 80% होगी |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here