अनुदान पर औषधीय फसलों की खेती करने के लिए आवेदन करें

8
45849
subsidy on herbal crop

सब्सिडी पर औषधीय फसलों की खेती

किसानों की आय को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा अब औषधीय फसलों को बढ़ावा दिया जा रहा है  | आयुष पद्धति को बढ़ावा देने के लिए औषधीय पौधों का बढ़ावा देना जरुरी है | अभी हाल में भारत सरकार के द्वारा हर्बल खेती को बढ़ावा देने के लिए आत्मनिर्भर भारत के तहत नई योजना की घोषणा की है | वहीँ पहले से चली आ रही योजनाओं के बजट को बढाया गया है |  मध्यप्रदेश राज्य सरकार के उद्यानिकी विभाग के द्वारा किसानों से औषधीय एवं सुगंधित फसल क्षेत्र विस्तार योजना एवं नश्वर उत्पादों की भण्डारण क्षमता में वृद्धि की विशेष योजना के तहत किसानों से आमंत्रित किये गए हैं |

औषधीय एवं सुगंधित फसल क्षेत्र विस्तार योजना क्या है

मध्य प्रदेश में औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा देने के लिए औषधीय एवं सुगन्धित फसल क्षेत्र विस्तार योजना के अंतर्गत किसानों को अनुदान देती है | योजना के तहत कृषक को स्वेच्छा से क्षेत्र के अनुकूल औषधीय एवं सुगंधित फसल के क्षेत्र विस्तार हेतु फसलवार 20 से 50 प्रतिशत तक का अनुदान देय है | प्रत्येक कृषक को योजनान्तर्गत 0.25 हेक्टेयर से 2 हेक्टेयर तक लाभ देने का प्रस्ताव है |

यह भी पढ़ें   यह सभी कृषि यंत्र 50 प्रतिशत तक की सब्सिडी पर लेने के लिए आवेदन का आखरी मौका

किसान इन औषधीय फसलों के तहत कर सकते हैं आवेदन

योजना
घटक
जिला
वर्ग

 

 

औषधीय एवं सुगंधित फसल क्षेत्र विस्तार योजना

 

अश्वगंधातुलसी, स्टीविया

श्योपुर  
 

सभी वर्ग 

 

 

सतावर
 

 

 

समान्य

 

 
 

 

कालमेघतुलसी, स्टीविया

शिवपुरी

सभी वर्ग

 

 

 

 

गुग्गल

मुरैना 

समान्य

 

 

स्टीविया

अनूपपुर 

सभी वर्ग

 

 

किसान आवेदन कब कर सकते हैं ?

औषधीय एवं सुगन्धित फसल क्षेत्र विस्तार योजना के लिए राज्य के किसानों के लिए 15/06/2020 से दोपहर 11:00 बजे से आवेदन शुरू किया जायेगा | आवेदन लक्ष्य पूरा होने तक जारी रहेगा तथा लक्ष्य से 10 प्रतिशत अधिक तक आवेदन को लिया जायेगा |

योजना का नियम और शर्तें :-

  • यह सभी वर्गों के लिए हैं | कृषि को आधार नंबर सहित ऑनलाइन आवेदन करना अनिवार्य है |
  • कृषक के पास कम से कम 2 हेक्टेयर भूमि होगी |
  • योजना का क्रियान्वयन कृषक निजी भूमि में किया जायेगा |
  • हितग्राही के पास सिंचाई के पर्याप्त साधन उपलब्ध होना चाहिए |
  • वनाधिकार प्रमाण पत्र प्राप्त आदिवासियों को भी अनुदान की पात्रता होगी |
यह भी पढ़ें   एक साथ 6 करोड़ किसान परिवारों के बैंक खाते में दी गई पीएम-किसान योजना की तीसरी किस्त

औषधीय पौधों पर अनुदान हेतु आवेदन कहाँ से करें ?

योजना के तहत उधानिकी एवं खाध प्रसंस्करण विभाग मध्य प्रदेश के द्वारा आमंत्रित किये गए हैं अत: किसान भाई यदि योजनाओं के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उधानिकी एवं मध्य प्रदेश पर देखे सकते हैं  अथवा जिला उद्यानिकी विभाग में संपर्क करें| मध्य प्रदेश में किसानों को आवेदन करने के लिए आनलाईन पंजीयन उधानिकी विभाग मध्यप्रदेश फार्मर्स सब्सिडी ट्रैकिंग सिस्टम https://mpfsts.mp.gov.in/mphd/#/ पर जाकर कृषक पंजीयन कर सकते हैं |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

8 COMMENTS

    • किस राज्य से हैं ? अपने यहाँ के कृषि विज्ञानं केंद्र या उद्यानिकी विभाग में सम्पर्क करें |

    • अपने यहाँ के उद्यानिकी विभाग या जिला कृषि विज्ञानं केंद्र में सम्पर्क करें |

    • दी गई लिंक पर देखें |https://kisansamadhan.com/crops-production/kharif-crops/paddy-farming/

  1. अधिक पानी वाले स्थान पर खरीद में कौन सी फसल अच्छी रहती है जिला शाजापुर मध्य प्रदेश

    • धान की खेती कर सकते हैं | ओषधिय फसलों की केटी के लिए अपने जिले के कृषि विभाग में समपर्क करें | ताकि आप अपने फसल आसानी से बेच सकें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.