पशुपालन क्षेत्र में स्वरोजगार की शुरुआत करने हेतु मैत्री बनने के लिए आवेदन करें

6
9336
maitri yojna avedan

मैत्री स्थापना हेतु आवेदन

ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन एवं किसानों और पशुपालकों की आय को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं | गोवंशीय पशुओं की देसी नस्ल सुधार एवं कृत्रिम गर्भाधान आदि उद्देश्यों की पूर्ति के लिए जिससे देसी नस्ल के पशुओं में दुग्ध उत्पादन को बढाकर पशुपालकों की आय में वृद्धि की जा सके, इसके लिए देश भर में राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना चलाई जा रही है | योजना के कई घटक है उनमें से एक घटक जिसके तहत गोवंशीय पशुओं के कृत्रिम गर्भाधान हेतु किसानों के घर पर गुणवत्तापूर्ण कृत्रिम गर्भाधान (एआई) सेवाओं की व्यवस्था के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में मैत्री की स्थापना की जा रही है | उत्तरप्रदेश राज्य में मैत्री की स्थापना के लिए आवेदन आमंत्रित किये गए हैं | इच्छुक व्यक्ति योजना के तहत अभी आवेदन कर सकते हैं |

पशुपालकों के द्वार पर कृत्रिम गर्भधान सेवाएँ उपलब्ध कराने हेतु भारत सरकार की राष्ट्रीय गोकुल मिशन अंतर्गत नवीन मैत्री (मल्टी परपज ए.आई. तकनीशियन इन रूलर इण्डिया) के चयन हेतु 1250 मैत्री सामान्य एवं अन्य पिछड़ा वर्ग-888, एस.सी. 212 एवं एस.टी.-150 पद के लिए 03 माह का प्रशिक्षण प्रदान कर स्वरोजगार के उद्देश्य से प्रदेश के चिन्हित 35 जनपदों हेतु आवेदन कर सकते हैं |

 इन 35 जनपदों में किया जायेगा मैत्री का चयन

उत्तरप्रदेश के अभी 35 जनपदों अम्बेडकरनगर, अमेठी, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलरामपुर, बांदा, बस्ती, देवरिया, फतेहपुर, गाजीपुर, गोंडा, गोरखपुर, हरदोई, जालौन, जौनपुर, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर, महाराजगंज, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, प्रयागराज, रायबरेली, संतकबीरनगर, श्रावस्ती, सिध्हार्थनगर, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, सुल्तानपुर, उन्नाव, वाराणसी, सोनभद्र, मऊ, बलिया एवं ललितपुर में स्थापित किया जाना है |

यह भी पढ़ें   भूलकर भी न जलाएं पराली/फसल अवशेष नहीं तो होगा जुर्माना, साथ रह सकते हैं सरकारी योजनाओं से वंचित

मैत्री की स्थापना के लिए नियम एवं शर्तें:-

  • आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यता कम से कम जीवविज्ञान से हाई स्कूल उत्तीर्ण हो | इंटर (जीव विज्ञान) को वरीयता दी जाएगी|
  • आवेदक चयनित क्षेत्र की ग्राम पंचायत का निवासी हो |
  • पूर्णतः स्वस्थ एवं कार्य करने के योग्य हो | पशुपालक के द्वार पर पहुँच कर सेवा कर सके | राजकीय चिकित्साधिकारी द्वारा प्रद्दत्त स्वस्थ प्रमाणपत्र सलंग्न करना अनिवार्य है |
  • वोटर आई.डी. कार्ड/ आधार कार्ड/ पैन कार्ड/ की स्व प्रमाणित छाया प्रति सलग्न करना अनिवार्य है |
  • प्रवासी श्रमिकों/ पशु सखि/ प्रशिक्षित पैरावेट को वरीयता दी जाएगी |
  • आवेदक की आयु दिनांक 01-12-2020 को 18 वर्ष से 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिए |

यह योजना पूर्णतः स्वरोजगार सृजन की अवधारणा पर आधारित है | आवेदक को किसी भी स्थिति में शासकीय सेवा में संविलयन का कोई अधिकार नहीं होगा | चयनित अभ्यर्थी को 35 दिनों का सैद्धानित्क प्रशिक्षण एवं 55 दिनों का व्यावहारिक प्रशिक्षण कराया जायेगा | चयनित अभ्यर्थी को सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूर्ण करने के उपरांत मैत्री (मल्टी परपज ए.आई. तकनीशियन इन रूलर इण्डिया) के रूप में कार्य करने हेतु प्रमाण-पत्र, बायोलॉजिकल कंटेनर्स तथा ए.आई.कीट आदि उपलब्ध करवाए जाएंगे |

यह भी पढ़ें   अनुपयोगी बंजर भूमि पर लगे सोलर प्लांट से किसान को होगी 50 लाख रुपये की सालाना आमदनी

मैत्री योजना के तहत स्वरोजगार प्राप्त करने हेतु आवेदन कैसे करें

निर्धारित प्रारूप पर आवेदन-पत्र एवं उसके साथ शैक्षणिक एवं निर्धारित आह्र्ताओं से सम्बंधित प्रमाण-पत्र की स्व प्रमाणित छाया प्रतियाँ, आवेदन पत्र के साथ अपना पता लिखा एक लिफाफा (27 रुपये का डाक टिकट सहित) अनुसूचित/ जाति/ अनुसूचित जनजाति श्रेणी सक्षम स्तर द्वारा जारी जाती प्रमाण-पत्र की स्वप्रमाणित छाया-प्रति सलग्न कर सम्बंधित पशुचिकित्साधिकारी / उप मुख्य पशुचिकित्साधिकारी के कार्यालय में दिनांक 31.12.2020 सायं 5.00 बजे तक व्यक्तिगत रूप से जमा कर सकते हैं | सम्बंधित पशुचिकित्साधिकारी/ उप मुख्य पशुचिकित्साधिकारी द्वारा आवेदन-पत्रों को भरने में सहायता की जाएगी |

चयनित अभ्यर्थियों को चयन के बाद इस आशय का शपथ-पत्र देना होगा कि वे स्वरोजगारी के रूप में कार्य करगें | सरकारी सेवा में किसी भी स्थिति में संविलयन का कोई अधिकार नहीं होगा तथा इसके लिए कभी दावा नहीं करेंगे |

आवेदन-पत्र का प्रारूप नियम व शर्तें एवं मैत्री का जनपदीय लक्ष्य परिषद् की वेबसाइट http://upldb.up.gov.in/ पर उपलब्ध है | आवेदन करने की अंतिम तिथि 31.12.2020 को सायं 5:00 बजे तक निर्धारित है अतः इच्छुक लाभार्थी इससे पूर्व अपना आवेदन जमा कर सकते हैं |

मैत्री योजना हेतु आवेदन डाउनलोड करें

6 COMMENTS

    • जी सर प्रोजेक्ट बनायें, अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग से सम्पर्क कर आवेदन करें आवेदन अप्रूव हो जाने पर बैंक से लोन हेतु आवेदन करें |

    • सर दी गई लिंक पर सभी जानकारी दी गई है | अपने यहाँ के पशु चिकित्सा अधिकारी को आवेदन करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here