back to top
28.6 C
Bhopal
सोमवार, जून 24, 2024
होमकिसान समाचारराज्य में 31 जनवरी तक पशुओं को मुफ्त में लगाया जायेगा...

राज्य में 31 जनवरी तक पशुओं को मुफ्त में लगाया जायेगा ब्रुसिलोसिस बीमारी का टीका

ब्रुसिलोसिस रोग टीकाकरण अभियान

पशुओं में विभिन्न प्रकार की बीमारियाँ आय दिन होते रहती हैं, जिसमें कई संक्रामक रोग होते हैं, जिसे एक बार टीकाकरण कराने से रोका जा सकता है | इसी तरह का एक संक्रामक रोग है “ब्रुसिलोसिस”| यह रोग गर्भवती पशुओं में मुख्य रूप से होता है, जिससे पशुओं का गर्भपात हो जाता है, यह रोग संक्रमण के कारण फैलता रहता है | जिससे पशुपालकों को काफी नुकसान होता है | इससे बचाव के लिए के लिए राज्य सरकारों के द्वारा समय-समय पर अभियान चला कर सभी पशुओं का टीकाकरण किया जाता है |

अभी मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के पशुपालकों के लिए केंद्र सरकार की मदद से सभी गौ-भैंस वंशीय पशुओं का टीकाकरण किया जा रहा है | ऐसे में राज्य के सभी पशुपालक जिनके पशुओं को अभी तक ब्रुसिलोसिस रोग का टीका नहीं लगा है वह इस माह यह टीका लगवा सकते हैं |

कब से कब तक चलेगा टीकाकरण अभियान

मध्यप्रदेश राज्य में ब्रुसिलोसिस बीमारी की रोकथाम के लिए प्रदेश व्यापी निःशुल्क टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है | अभियान के तहत राज्य के सभी गौ-भैंस वंशीय मादा बछियों का निःशुल्क टीकाकरण किया जाएगा, यह अभियान 1 जनवरी से 31 जनवरी 2022 तक चलाया जायेगा | यह टीकाकरण प्रदेश के सभी जिलों, पंचायतों तथा ग्रामों में दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   किसान भाई इस तरह करें नकली और मिलावटी उर्वरकों की पहचान

क्या होता है ब्रुसिलेसिस ?

गाय-भैंस वंशीय पशुओं में यह रोग ब्रुसेल्ला एबार्टस नामक जीवाणु द्वारा होता है | ये जीवाणु गाभिन पशु के बच्चेदानी में रहता है तथा अंतिम तिमाही में गर्भपात कराता है| इस बीमारी से ग्रस्त पशु 7–9 महीने के गर्भकाल में गर्भपात हो जाता है | ये रोग पशुशाला में बड़े पैमाने पर फैलता है तथा पशुओं में गर्भपात हो जाता है| एक बार संक्रमित हो जाने पर पशु जीवन काल तक इस जीवाणु को अपने दूध तथा गर्भाश्य के स्त्राव में निकालता है| जिससे भारी आर्थिक हानि होती है |

ब्रुसिलोसिस रोग के मुख्य लक्षण

पशुओं में गर्भावस्था की अंतिम तिमाही में गर्भपात होना इस रोग का प्रमुख लक्षण है। पशुओं में जेर का रूकना एवं गर्भाशय की सूजन एवं नर पशुओं में अंडकोष की सूजन इस रोग के प्रमुख लक्षण हैं। इसके अलावा रोग के लक्षणों में बुखार, गर्भावस्था के अंतिम चरण में गर्भपात होना, बांझपन, हीट में देरी, लैकेटेशन में बाधा जिसके परिणामस्वरूप बछियों की हानि होती है और दूध उत्पादन में कमी होती है |

यह भी पढ़ें   किसान इस साल धान के खेतों में डालें यह खाद, मिलेगी बंपर पैदावार
उपचार
  • टीकाकरण द्वारा गौ-भैंस वंशीय पशुओं में ब्रुसिलोसिस रोग को रोका जा सकता है |
  • मादा गौ-भैंस वंशीय बछियों में 4-8 महीने की उम्र के जीवन काल में एक बार टीकाकारण करके ब्रुसिलोसिस रोग का नियंत्रण किया जा सकता है |

टीकाकरण से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ सम्पर्क करें  

बुर्सिलोसिस बीमारी के टीकाकरण कार्यक्रम सम्बन्धी किसी भी तरह की जानकारी के लिए किसान भाई  जिले के उपसंचालक, पशु चिकित्सा सेवाएं निकटतम पशु चिकित्सा संस्था, पशु पालन विभाग के अधिकारी – कर्मचारी से संपर्क कर सकते हैं |

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर