8 लाख 84 हज़ार किसानों के कृषि कनेक्शन बिल हुए शून्य

13957
electricity bill

कृषि बिजली बिल

कृषि में लागत कम करने और किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से केंद्र एवं राज्य सरकारों के द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिसका लाभ किसानों को सीधे तौर पर मिल रहा है | ऐसी ही एक योजना राजस्थान सरकार ने राज्य के किसानों को बिजली बिल में राहत प्रदान करने के लिए वर्ष 2021 से शुरू की है | जिसके तहत राज्य के किसानों को अधिकतम 1000 रुपये प्रति माह की दर से अनुदान दिया जाता है | जिससे किसानों के बिजली बिल काफी कम हो गए है, यहाँ तक की कई किसानों के बिजली बिल शून्य हो गए हैं |

नये वर्ष पर राज्य के ऊर्जा, जल संसाधन, इंदिरा गांधी नहर परियोजना एवं जल संसाधन विभाग राज्य मंत्री श्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि “मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना” से बहुत से किसानों का बिजली बिल शून्य हो गया है तथा बहुत से किसानों का बिजली बिल कम आया है |

यह भी पढ़ें   ऐसे जुड़े मात्र 55 रुपये में किसानों के लिए चल रही पेंशन योजना से

8 लाख से अधिक किसानों का बिजली बिल हुआ शून्य

17 जुलाई 2021 से राजस्थान के किसानों के लिए चलाई जा रही “मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत राज्य के 8 लाख 84 हजार किसानों को कृषि बिल शून्य आया है | राज्य में कुल 15 लाख किसानों के पास कृषि कनेक्शन है | योजना के तहत 59 प्रतिशत किसानों का बिजली बिल शून्य प्रतिशत आया है |

क्या है मुख्यमंत्री किसान मित्र उर्जा योजना

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना में सामान्य श्रेणी—ग्रामीण (ब्लॉक ऑवर सप्लाई) के मीटर्ड एवं फ्लैट रेट श्रेणी कृषि उपभोक्ताओं को वर्तमान में दिये जा रहे टैरिफ अनुदान के साथ—साथ अतिरिक्त अनुदान प्रतिमाह 1,000 रुपये तक (अधिकतम 12,000 रुपये प्रतिवर्ष) विद्युत विपत्र में समायोजन के माध्यम से दिया जा रहा है । यह योजना बिलिंग माह मई, 2021 से लागू की गई है।

दिए जाएंगें 75 हजार नये कृषि कनेक्शन

श्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि 50,000 कृषि कनेक्शन जल्द ही राज्य सरकार द्वारा दिए जाना प्रस्तावित है | बूंद–बूंद कृषि योजना के तहत मार्च 2022 तक 75,000 कृषि कनेक्शन देने का लक्ष्य है | जिन किसानों के कृषि कनेक्शन के बिल अधिक है, उनके लिए भी सरकार संवेदनशील है | ऐसे किसान अपने बिल की 10 प्रतिशत राशि जमा करवा कर पुन: जुड़वाँ सकते हैं |

यह भी पढ़ें   सरकार ने शुरू की टाल विकास योजना
पिछला लेखराज्य में 31 जनवरी तक पशुओं को मुफ्त में लगाया जायेगा ब्रुसिलोसिस बीमारी का टीका
अगला लेखजानिए क्या होता है पाला पड़ना, किसान किस तरह बचाएं सब्जी फसलों को पाला पड़ने से?

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.