बुधवार, फ़रवरी 28, 2024
होमकिसान समाचारकृषि बजट राजस्थान 2023: सरकार ने किसानों के लिए खोला ख़ज़ाना, किसानों...

कृषि बजट राजस्थान 2023: सरकार ने किसानों के लिए खोला ख़ज़ाना, किसानों को मिली यह सौग़ातें

बजट में किसानों को मिली महत्वपूर्ण सौगातें

राजस्थान सरकार ने 10 फरवरी 2023 के दिन इस वित्त वर्ष के लिए अपना बजट पेश कर दिया है। सरकार ने इस वर्ष भी पिछले वर्ष की तरह ही किसानों के लिए अलग से कृषि एवं सम्बंधित क्षेत्रों के लिए बजट पेश किया है, जिसमें सरकार ने किसानों के लिए कई नई योजनाओं को शुरू करने की घोषणा की है। साथ ही पहले से चली आ रही योजनाओं को आगे भी जारी रखा गया है एवं कुछ योजनाओं के बजट में वृद्धि की गई है।

बजट में किसानों के लिए 2 हजार यूनिट तक निःशुल्क बिजली, मुख्यमंत्री कामधेनु बीमा योजना, पशु मित्र योजना एवं राजस्थान युवा कृषक कौशल एवं क्षमता संवर्द्धन मिशन की शुरुआत करने की घोषणा की गई है। इसके अलावा इस वर्ष बजट में किसानों के लिए इन योजनाओं के लिए प्रावधान किए गए हैं:-

इस वर्ष कृषि बजट में किया गया इन योजनाओं के लिए प्रावधान

  1. कृषक कल्याण कोष की राशि को 5 हजार करोड़ रुपए से बढ़ाकर 7 हजार 500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।
  2. मुख्यमंत्री कृषक साथी योजना में युवाओं के लिए 12वें मिशन की शुरुआत इस वर्ष की जाएगी। 
  3. 2 वर्षों में फार्म पौण्ड के निर्माण हेतु 50 हजार किसानों को दिया जाएगा अनुदान।
  4. 40 हजार किसानों को 2 वर्षों में 16 हजार किलोमीटर पाइप लाइन के लिए दिया जाएगा अनुदान।
  5. 50 हजार कृषकों को जैविक खेती हेतु प्रति किसान दी जाएगी 5 हजार रुपए की इनपुट सब्सिडी।
  6. जयपुर एवं जोधपुर में 100 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा Organic Products Mart।
  7. 23 लाख लघु/सीमांत किसानों को दिए जाएँगे निःशुल्क बीज मिनीकिट।
  8. 8 लाख लघु व सीमांत कृषकों संकर बाजरा बीज मिनिकिट्स का वितरण किया जाएगा।
  9. 2 वर्षों में 60 हजार किसानों को ग्रीन हाउस/ शेडनेट हाउस/ लो टनल/ प्लास्टिक मल्चिंग के लिए लगभग एक हजार करोड़ रुपए का अनुदान दिया जाएगा।
  10. 20 लाख कृषकों को सब्ज़ियों के बीज किट दिए जाएँगे।
  11. सिरोही में अंजीर का Centre of Excellence की स्थापना की जायगी।
  12. एक लाख कृषकों को तारबंदी पर अनुदान 200 करोड़ रुपए व्यय किए जाएँगे।
  13. RSMML के माध्यम से SSP, DAP बनाने के 500-500 Tonnes per Day क्षमता के Plants स्थापित किए जाएँगे।
  14. हरी खाद (Green Manure) उत्पादन हेतु 5 लाख किसानों को ढ़ेंचा बीज के निःशुल्क मिनीकिट्स दिए जाएँगे।
  15. एक लाख किसानों को कृषि पर अनुदान देने के लिए दिए जाएँगे 250 करोड़ रुपए।
  16. कृषि स्नातक बेरोजगार युवाओं को एक हजार ड्रोन हेतु 4-4 लाख रुपए तक का अनुदान दिया जाएगा।
  17. टोंक में Centre of Excellence for Apiculture की स्थापना की जाएगी।
  18. एक हजार कृषक मित्र बनाए जाएँगे।
  19. जोबनेर – जयपुर में पशु पालन विश्वविद्यालय (Veterinary University) की स्थापना की जाएगी।
  20. सीकर व बस्सी-जयपुर में पशु चिकित्सा महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी।
  21. 7 कृषि महाविद्यालय एवं दुर्गापुरा – जयपुर में उद्यानिकी महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी।
  22. 2 हजार यूनिट प्रतिमाह तक उपयोग करने वाले समस्त 11 लाख से अधिक किसानों को निःशुल्क बिजली दी जाएगी। 
  23. 22 हजार करोड़ रुपए के अल्पकालीन फसली ऋण का वितरण किया जाएगा, इसके लिए सरकार एक हजार करोड़ रुपए का ब्याज अनुदान दिया जाएगा।
  24. Rajasthan Irrigation Restructure Programme में लगभग 3 हजार 600 करोड़ रुपए की लागत के काम किए जाएँगे।
  25. इंदिरा गांधी नहर परियोजना में लगभग 1 हजार 450 करोड़ रुपए की लागत से जीर्णोद्धार एवं सिंचाई सम्बंधी कार्य किए जाएँगे।
  26. 1,035 नए पटवार मंडलों का सृजन किया जाएगा।
  27. 7 हजार 282 पैक्स (प्राथमिक कृषि सहकारी साख समिति) तथा समस्त 17 हजार 500 से अधिक दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों का दो वर्षों में कंप्यूटरीकृत किया जाएगा ।
  28. राजस्व तथा पंचायतीराज विभागों से सम्बंधित सभी कार्यों को ऑनलाइन कर पेपरलैस किया जाएगा।
  29. पंचायतीराज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों एवं राजस्व कार्मिकों को टेबलेट दिए जाएँगे।
  30. लम्पी रोग से दुधारू गोवंश की हुई मृत्यु पर प्रति गाय 40 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  31. दुधारू पशुओं के लिए मुख्यमंत्री कामधेनु बीमा योजना शुरू की जाएगी, जिस पर 750 करोड़ रुपए व्यय किए जाने का प्रस्ताव है, 20 लाख से अधिक पशुपालक को लाभ मिलेगा।
  32. पशुधन निःशुल्क आरोग्य योजना के अंतर्गत पशुओं का निःशुल्क टीकाकरण किया जाएगा।
  33. Sex Sorted Semen से Artificial Insemination कराने हेतु 50 प्रतिशत, 500 रुपए की सीमा तक अनुदान दिया जाएगा।
  34. एक हजार 200 ग्राम पंचायतों में चरणवद्ध रूप से पशु चिकित्सा उपकेंद्र खोले जाएँगे।
  35. Sex Sorted Semen के उत्पादन के लिए बस्सी-जयपुर में लैब की स्थापना की जाएगी।
  36. 100 पशु चिकित्सा उपकेंद्रों को पशु चिकित्सालय में क्रमोन्नत किया जाएगा।
  37. 15 पशु चिकित्सालय प्रथम श्रेणी पशु चिकित्सालय में क्रमोन्नत किया जाएगा।
  38. 5 प्रथम श्रेणी पशु चिकित्सालय बहुउद्देशीय पशु चिकित्सालय में क्रमोन्नत किया जाएगा।
  39. एक हजार नवीन milk routes, 5 हजार नए सरस बूथ तथा 200 सरस पार्लर की स्थापना की जाएगी।
  40. शहरी क्षेत्रों में एक हजार सरस मित्र बनाए जाएँगे।
  41. गोशालाओं एवं नंदीशालाओं पर एक हजार 100 करोड़ रुपए से अधिक व्यय किए जाएँगे।
यह भी पढ़ें   अब तक 11 हजार से अधिक कृषि कार्य करते हुए दुर्घटना का शिकार हुए किसानों को दिया गया मुआवजा

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

Trending Now

डाउनलोड एप