इस कृषि मेले से होगी किसानों के लिए देश के सबसे बड़े बाजार की शुरुआत

0

कृषि कुम्भ 2018

केंद्र सरकार की महत्वाकाक्षी योजना वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी दुगना करने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए उत्तर प्रदेश में कृषि कुम्भ का आयोजन किया जा रहा है | कृषि कुम्भ का आयोजन 26 अक्तूबर से 28 अक्तूबर तक किया जायेगा | कृषि कुम्भ राजधानी लखनऊ के तेलीबाग रायबरेली रोड में भारतीय गन्ना अनुसंधान परिसर में किया जायेगा | इस आयोजन में प्रदेश के सभी 75 जिलों के चुनिंदा किसान, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त कृषि वैज्ञानिक, केन्द्र और राज्य सरकार के विभिन्न् औद्योगिक संस्थाओं के प्रतिनिधि और नीति निर्धारक भाग लेंगे |

कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही के अनुसार ‘‘कृषि, उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है | प्रदेश में 2.33 करोड़ परिवार खेती बाड़ी में लगे हैं जिनमें 92.5 प्रतिशत छोटे किसान हैं | प्रदेश की कुल आबादी के करीब 68 प्रतिशत लोगों के आय का मुख्य जरिया भी यही है |’’ उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को उम्मीद है कि कृषि कुंभ, 2018 के जरिये किसानों और कृषि से जुड़ी कंपनियों के लिए विकास के अवसर के नये द्वार खुलेंगे | यह आयोजन वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लक्ष्य को हासिल करने में प्रदेश के लिए मददगार साबित होगा |

यह भी पढ़ें   किसानों के लिए खुशखबरी-इस वर्ष होगी अच्छी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया पूर्वानुमान

इसका उद्देश्य क्या है ?   

कृषि कुम्भ किसानों तक खेती की लागत को कम करने और उत्पादकता बढ़ाने की नई-नई प्रौद्योगिकियों के प्रसार और कृषि ऊपजों के प्रसंस्करण और विपणन आदि में सुधार लायेगा | इस मेले का उद्देश्य किसानों, तकननीकी विशेषज्ञों और व्यवसायियों को एक ऐसा साझा मंच प्रदान करना है जहां वे कृषि उत्पदन, खाद्य प्रसंस्करण, विपणन, कृषि के आधुनिक तरीकों, पशुपालन, मुर्गीपालन, मत्स्यपालन और बागवानी आदि से संबंधित क्षेत्रों में अपने विचारों, अनुभवों और नई नई जानकारियों का आदान प्रदान कर सकें |

कृषि कुम्भ में कौन शामिल होगा ?

इसमें उ.प्र. के 75 जिलों के किसानों के अलावा अन्य राज्यों के किसान, खेती, खलिहानी में नव प्रयोग करने वाले लोग, वैज्ञानिक, किसान समूह, तकनीकी विशेषज्ञ, इंटरप्रेन्योर्स सब हिस्सा लेंगे।

कृषि कुम्भ में क्या जानकारी दिया जायेगा ?

इस प्लेटफार्म पर किसानों को उत्पादन बढ़ाने की तकनीक, नये प्रयोग, खाद्य प्रसंस्करण की जानकारी, खेती, खलिहानी में उचित मूल्य के लिए बाजार, खेती-खलिहानी में मशीनों के प्रयोग से लागत घटाने के उपाय, एग्रो फूड प्रोसेसिंग, अच्छा लाभ दिलाने वाली फसलों की जानकारी, उनकी सही बुआई आदि की जानकारी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें   मशरूम की खेती हेतु ट्रेनिंग लेने के लिए आज ही पंजीकरण करें

इसमें भाग लेने के लिए किसान को क्या करना होगा ?

कृषि कुम्भ में भाग लेने के लिए ऑनलाइन पंजीयन करना होगा | पंजीयन के आधार पर ही किसानों को शामिल कियां जायेगा | पंजीयन यहाँ से करें |

आवेदन करने के लिए क्लिक करें 

Previous articleकम बारिश के कारण इन जिलों को किया गया सूखाग्रस्त घोषित
Next articleमध्यप्रदेश में सिंचाई उपकरणों पर अनुदान के लिए चल रही योजनाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here