इस वर्ष के लिए धान की उन्नत प्रजातियाँ जिसकी उत्पादन क्षमता अच्छी है

0
710
views
dhan ki unnat kisme

धान की उन्नत किस्में

खरीफ फसल के सबसे महत्वपूर्ण फसल धान है | इसकी खेती उत्तर भारत से दक्षिण भारत तक होती है | देश के कुछ राज्यों में धान की खेती 2 से 3 बार की जाती है | इसकी खेती अब उन स्थानों पर भी होने लगी है जहाँ पर सिंचाई की उपलब्धता है | धान की खेती सिंचित तथा अर्ध सिंचित दोनों जगहों में होती है | इसके साथ ही इसकी खेती नर्सरी तैयार करके की जाती है | छिड़काव विधि से खेती उस स्थान पर की जाती है जहां पर सिंचाई की उपलब्धता कम रहती है |

धान की खेती के लिए सबसे महत्वपूर्ण बीज होती है | धान की कितनी किस्में देश में है यह निश्चित तौर पर कहा नहीं जा सकता है | धान की कुछ किस्में 90 दिन में तैयार होने वाली होती है तो कुछ किस्में 120 से 130 दिन में तैयार होती है | इन सभी बातों को ध्यान में रखकर धान की कुछ उन्नत किस्में को लेकर किसान समाधान लेकर आया है |

यह भी पढ़ें   मध्यप्रदेश में समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए इन फसलों के पंजीयन की अवधि बढाई गई

पूसा – 1460

  • पैदावार 50 से 55 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 120 से 125 दिन
  • धान की विशेषता – दाना छोटा पतला दाना, पौधा छोटा

डब्लू.जी.एल. – 32100

  • पैदावार 55 से 60 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 125 से 130 दिन
  • धान की विशेषता – दाना छोटा पतला दाना, पौधा छोटा

पूसा सुगंध – 3, पूसा सुगंध – 4

  • पैदावार 40 से 45 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 120 से 125 दिन
  • धान की विशेषता – लम्बा पतला एवं सुगन्धित दाना

एम.टी.यू. – 1010

  • पैदावार 50 से 55 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 110 से 115 दिन
  • धान की विशेषता – पतला दाना, पौधा छोटा

आई.आर. – 64 , आई.आर. – 36

  • पैदावार 50 से 55 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 120 से 125 दिन
  • धान की विशेषता – लम्बा पतला दाना , पौधा छोटा

धान: डीआरआर धान 310

यह भी पढ़ें   इस कीटनाशक से आम के फूल को कीट तथा रोग बचाएं

धान: डीआरआर धान 45

  • पालिश दानों में जिंक की उच्च मात्रा (22.6 पीपीएम) जो प्रचलित किस्मों में उपलब्ध जिंक (12.0 – 16.0 पीपीएम) से अधिक है
  • पैदावार 50.0 किवंटल / हैक्टेयर
  • फसल पकने की अवधि 125 – 130 दिन
  • कर्नाटक, तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश तथा तेलंगाना राज्यों के लिए अनुमोदित
  • भा.कृ.अनु.प. राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान, हैदराबाद द्वारा विकसित

धान की सभी उन्नत किस्में जानने के लिए क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here