रबी फसलों की बुआई के लिए उन्नत बीज, खाद, कीटनाशक किसानों तक पहुंचाएं जाएंगे

0
5277
views
rabi fasal buaee unnat beej, khaad, keetanaashak bihar

रबी फसलों की बुआई लिए उन्नत बीज, खाद, कीटनाशी यहाँ से लें

खरीफ फसल अधिक बारिश तथा सूखे कारण नुकसान होने के कारण किसानों तथा सरकार की उम्मीद अब रबी फसल से ही है | इसके लिए अलग – अलग राज्य सरकार किसानों के लिए बीज के साथ – साथ तकनीकी जानकारी देने में लगी है | सूखे तथा बारिश के कारण सबसे ज्यादा नुकसान बिहार, मध्यप्रदेश राजस्थान, छत्तीसगढ़ राज्य को उठाना पड़ा है | इसको देखते हुए अभी बिहार सरकार ने किसानों के लिए रबी मौसम में कृषि विभाग में संचालित योजनाओं का किसानों के बीच व्यापक प्रचार – प्रसार करने के उद्देश्य से सभी जिलों के लिए वाद्य यंत्रों एवं तकनीकी बुलेटिनों से युक्त कृषि जागरूकता अभियान रथों एवं बीज वहन विकास वहन रथों तथा विशेष रूप से पटना प्रमंडल के 06 जिलों का एल.ई.डी. से युक्त कृषि जागरूकता महाभियान रथों को संवाद मुख्यमंत्री सचिवालय पटना से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है |

यह वाहन प्रदेश के सभी जिलों के लिए आज ही प्रस्थान कर जायेंगे तथा तिथिवार प्रखंडों में आयोजित होने वाले प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण–सह–उपादान वितरण शिविर के प्रचार – प्रसार हेतु ग्राम एवं ग्राम पंचायतों में घुमाया जायेगा ताकि रबी मौसम में विभाग द्वारा संचालित विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी जन – साधारण तक पहुंचाई जाये | इस योजना की पूरी जानकारी किसान समाधान लेकर आया है |

यह अभियान कब से कब तक चलेगा ?

रबी मौसम में फसलों की उत्पादन एवं उत्पादकता तथा किसानों की आमदनी बढ़ाने हेतु खेती- बाड़ी से संबंधित प्रशिक्षण, विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के लिए देय अनुदान सुलभता से उपलब्ध कराने तथा व्यापक प्रचार – प्रसार करने हेतु 22 – 31 अक्टूबर 2019 तक प्रथम चरण में सभी प्रखंड मुख्यालयों में प्रखण्ड स्तरीय प्रशिक्षण – सह – उपादान वितरण कार्यक्रम का आयोजन कर विभागीय योजनाओं / कार्यक्रमों के लाभार्थी किसानों शीत अन्य किसानों को तकनीकी प्रशिक्षण एवं उपादान वितरण किया जायेगा ,जबकि प्रखंड स्तरीय प्रशिक्षण– सह–उपादान वितरण कार्यक्रम दिवतीय चरण का आयोजन 11–18 नवम्बर 2019 तक किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   राष्ट्रीय बांस मिशन (एनबीएम) को मिली मंजूरी

खाद, बीज, कीटनाशी आदि अनुदान पर उपलब्ध

फसल पराली को न जलाने एवं फसल अवशेष प्रबंधन तथा अन्य कृषि विभाग के योजनाओं की जानकारी देने हेतु पहली बार पटना प्रमंडल के 06 जिलों में एल.ई.डी. युक्त कृषि महाभियान रथों को घुमाया जाएगा | जिसमें एल.ई.डी. के माध्यम से किसानों को वृत्त – चित्र दिखाकर जागरूक किया जाएगा |

रबी अभियान में राज्य के सभी प्रखंड मुख्यालयों में किसानों को विभिन्न फसलों की खेती- बाड़ी का तकनीकी प्रशिक्षण तथा विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी जाएगी | तथा प्रखंड परिसर में आयोजित शिविर में योजनाओं के लिए चयनित किसानों को खाद, बीज, कीटनाशी आदि उपादान उपलब्ध कराया जाएगा | साथ ही गेहूं, मक्का, सब्जी आदि के बीज एवं अन्य उपादान शिविर में चयनित किसानों को उपलब्ध कराये जायेंगे | सरकार द्वारा बीज सब्सिडी पर देने के लिए ऑनलाइन आवेदन चल रहे हैं |

इस वर्ष बिहार राज्य का यह लक्ष्य रखा गया है

रबी / गरमा मौसम 2019 – 20 में 43.75 लाख मीट्रिक हेक्टेयर में खाधान्न फसलों की खेती से 149.30 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है |  गेंहूँ फसल के लिए 23 लाख हेक्टेयर में खेती से कुल 72 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | रबी मक्का में 5 लाख हेक्टेयर में खेती के लिए कुल 42 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | गरमा मक्का के लिए 2.50 लाख हेक्टेयर में खेती से कुल 16.50 ल्कः मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है |

यह भी पढ़ें   संबल योजना में 5 एकड़ तक के किसानों को किया जायेगा शामिल

दलहन के लिए 11.50 लाख हेक्टेयर में खेती से कुल 13.75 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है | जिसमें गरमा मुंग के लिए 6.35 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में आच्छादन एवं 6.25 लाख टन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है | बोरो एवं गरमा धान फसल के लिए 1.50 लाख हेक्टेयर में आच्छादन तथा 4.70 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है | जौ फसल के लिए 0.25 लाख हेक्टेयर में खेती से कुल 0.35 लाख मैट्रिक टन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है | रबी / गरमा 2019 – 20 में राई , सरसों, तोरी, तीसी , सूर्यमुखी एवं तिल का 2.20 लाख हेक्टेयर में खेती के लिए 3.35 लाख मैट्रिक टन तेलहन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here