मध्यप्रदेश में बनाई जाएगी 23 करोड़ रुपये में 78 गौ-शालाएं

0
2020
goshala mp govt

आवरा गायों के लिए गौ शालाओं का निर्माण

आवारा गायों के कारण किसानों का खेती करना मुश्किल हो गया है | कई जिलों में गाय किसानों की सभी तरह के फसल को खाकर नष्ट कर देती है | गायों के कारण किसानों को अपने खेतों प्रति एकड़ 10,000 रुपये से ज्यादा का केवल कांटेदार तार लगाकर खेती करना पड़ता है | इसके बाबजूद भी फसल की सुरक्षा निश्चित नहीं है | नई सरकार बनने के समय किसानों के मुद्दे को प्राथमिकता के तौर पर मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने सभी पंचायत स्तर पर गौ शाला बनाने का निश्चय किया था | गौ–शाला बनाने का काम शरू भी हो चुका है | कुछ तहसीलों में गायों को गौ–शाला में रखा जा रहा है |

प्रदेश में बनेगीं 78 गौ-शालाएं

मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने वन विभाग के माध्यम से 78 अन्य गौ–शाला बनाने जा रही है | इसमें से 50 गौ–शाला को वनोपज संघ के माध्यम से बनाया जायेगा | इसके लिए 30 लाख प्रति गौ–शाला के तहत 15 करोड़ रुपया खर्च किया जायेगा | शेष 28 गौ–शाललाओं के लिए 8 करोड़ 4 लाख रूपये का वित्त पोषण वन सुरक्षा समितियों कोदी जाने वाली लाभांश की राशि से किया गया है | गौवंश को सतत चारा आपूर्ति के उद्देश्य से संयुक्त वन प्रबंधन समितियों के सहयोग से चारा उत्पादन के लिए उपयुक्त वन क्षेत्रों का चयन किया जा रहा है |

यह भी पढ़ें   सरकार की नई योजना: किसान 3 प्रतिशत ब्याज पर ले सकेगें 3 लाख रुपये तक का लोन

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक, संयुक्त वन प्रबंधन श्री चितरंजन त्यागी ने बताया कि अनाश्रित गायों के लिए गौ – शाला खोलना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है | वन विभाग द्वारा गौ – शालाओं के लिए स्थल का चयन उस क्षेत्र में उपस्थित अनाश्रित गौ – वंश के आधार पर किया गया है | सौ गायों की क्षमता वाली प्रत्येक गौ–शाला के लिए 30 लाख रूपये प्रति इकाई की डॉ से प्राक्कलन तैयार किये गये हैं | इसमें गायों के लिए शेड, चारे के लिए गोदाम और जल की व्यवस्था की गई है | अनाश्रित गायों को आश्रय मिल जाने से उन्हें उपचार और आहार की सुविधा मिलेगी | साथी ही, सडक दुर्घटना में भी कमी आएगी |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here