back to top
28.6 C
Bhopal
बुधवार, जून 26, 2024
होमकिसान समाचार10 लाख किसानों को मिलेगी सौगात, 29 दिसंबर को दी जाएगी...

10 लाख किसानों को मिलेगी सौगात, 29 दिसंबर को दी जाएगी 3500 रुपए की राशि

किसानों को 3500 रुपए का भुगतान

इस वर्ष मानसून की अनिश्चितता के चलते किसानों को काफी नुकसान हुआ है। ऐसे में किसानों को राहत देने के लिए अलग-अलग राज्य सरकारों के द्वारा अलग-अलग योजनाओं के माध्यम से सहायता दी जा रही है। इस कड़ी में झारखंड सरकार राज्य में सूखे की मार झेल रहे किसानों को 3500 रुपए की राहत राशि देने जा रही है। राज्य में 27 दिसंबर को राज्यस्तरीय रबी कर्मशाला 2022 का आयोजन किया गया, उसमें यह जानकारी दी गई।

इस अवसर पर झारखंड कृषि मंत्री श्री बादल ने बताया कि 461 करोड़ रुपए मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत सभी जिलों को आवंटित कर दिए गए हैं। झारखंड सरकार ने राज्य के 22 ज़िलों के 226 प्रखंडो को सूखाग्रस्त घोषित किया है। जिसके तहत इन ज़िलों के किसानों को यह सहायता राशि दी जाएगी।

29 दिसंबर के दिन जारी की जाएगी 3500 रुपए की सहायता राशि

निबंधक सहकारी समिति श्री मृत्युंजय वर्णवाल ने बताया कि खरीफ के बाद सुखाड़ हुआ है। अब बीज का वितरण करके आगामी फसल की तैयारी करनी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सुखाड़ योजना के तहत 461 करोड़ रुपए का आवंटन हो चुका है और 29 दिसंबर तक लगभग 10 लाख किसानों के खाते में 3500 रुपए ट्रांसफर किए जाएंगे। इसके लिए 5.75 लाख किसान परिवार का डाटा उपायुक्त स्तर से अप्रूव हो चुका है।

यह भी पढ़ें   गेहूं की किस्म करण शिवानी ने दिया अब तक का सबसे अधिक उत्पादन

किसानों को 90 फ़ीसदी अनुदान पर दिए जा रहे हैं बीज

कृषि निदेशक श्रीमती निशा उरांव ने कहा कि 226 प्रखंड सुखाड़ की चपेट में थे, जिन्हें सुखाड़ क्षेत्र घोषित किया गया। इसके लिए केंद्र सरकार से हमने 9000 करोड़ रुपए की मांग की है। इस बार हमने प्रत्येक प्रखंड के 10 गांव का स्थल निरीक्षण किया, साथ ही 5 गांव की जियो टैगिंग भी सुनिश्चित की गई। उसके बाद इन क्षेत्रों को सुखाड़ घोषित करने की अनुशंसा केंद्र को भेजी गई है।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार बीज वितरण में 90 फ़ीसदी और 100 फ़ीसदी अनुदान दे रही है, जबकि पिछले साल तक यह अनुदान 50% ही था। इस बार हमने 80 हजार क्विंटल बीज वितरण किया है, जो कि एक रिकॉर्ड है। बीज वितरण के काम में एफपीओ को लगाया गया, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। कई नए एफपीओ को लाइसेंस भी दिया गया है।

यह भी पढ़ें   मौसम चेतावनी: 18 से 20 अप्रैल के दौरान इन जिलों में हो सकती है बारिश

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर