पशुपालन के इन 6 क्षेत्रों के 12 स्टार्ट अप को 1 करोड़ रुपये का दिया जायेगा अनुदान

20
20237
pashupalan startup

पशुपालन स्टार्टअप को दिया जाने वाला अनुदान

पशुपालन के क्षेत्र में उत्पाद को बढ़ाने के साथ–साथ उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने के लिए केंद्र सरकार ने पशुपालन स्टार्टअप बड़ी चुनौती नाम से एक योजना कि शुरुआत 11 सितम्बर 2019 में शुरू की गई थी | इस योजना के शुरुआत होने से पशुपालन क्षेत्र में निजी भागीदारी होने कि उम्मीद है तथा पशुपालन के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन होने की भी उम्मीद है | इस योजना के शुरू होने के तारीख से ही देश भर से इच्छुक लोगों से स्टार्टअप के लिए आवेदन मांगे गये थे | जिससे इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में निजी भागीदारी के लिए लोगों ने आवेदन किया है | पशुपालन के क्षेत्र में कुल 6 अलग – अलग क्षेत्र रखे गये थे , जिसके आधार पर आवेदन माँगा गया था |

इस क्षेत्र में किये गये कुल आवेदनों को एक प्रतियोगिता के तहत सभी स्टार्टअप को की समीक्षा की गई तथा उन सभी में से 12 स्टार्टअप का आगे के लिए चयन किया गया है | इन सभी विजेताओं को प्रथम या द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है | किसान समाधान इसकी पूरी जानकारी लेकर आया है |

पशुपालन के इन क्षेत्रों में स्टार्टप शुरू करने पर अनुदान

चुनौती छह समस्या विवरणों के अदिव्तीय समाधान के साथ सभी स्टार्टप के लिए आवेदन के लिए खुली थी जिन्हें नीचे दिया गया है |

मूल्य वर्धित उत्पादन :- छोटे घरेलू और निर्यात बाजारों के लिए नवीन तकनीकों का इस्तेमाल करते हुए कुछ मूल्य वर्धित डेयरी उत्पादों जैसे पनीर, स्मुदीन, फ्लेवर्ड मिल्क, कस्टर्ड, घी और अन्य एथनिक भारतीय उत्पादों को शुरू किया गया |

एकल उपयोग प्लास्टिक विकल्प

  • डेयरी क्षेत्र में एकल उपयोग पालीथिन को बदलने के लिए पर्यावरण के अनुकूल विकल्प का उपयोग करना |
  • दूध में मिलावट खत्म करना :- डेयरी क्षेत्र में दूध में मिलावट से निपटना
  • नस्ल सुधार और पशु पोषण :- मवेशियों और भैंसों की भरतीय नस्लों के बीच त्वरित आनुवंशिक लाभ के लिए नवीं तकनीकों का उपयोग और हरे चारे की नई किस्में और समृद्ध पशु चारा |
  • ई – काँमर्स समाधान :- देश भर में आधुनिक डिजिटल बुनियादी ढांचा और परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए नवाचारों को प्रोत्साहित करना |
  • उत्पाद पता लगाने की क्षमता :- कृषि उत्पादन से उपभोगता तक डेयरी उत्पादों की यात्रा पर नजर रखने के लिए प्रौधोगिकियों का उपयोग करना |
यह भी पढ़ें   कृषि आधारित उद्योग लगाने के लिए सरकार दे रही है 90 प्रतिशत सब्सिडी

अभी तक 157 स्टार्टअप  ने किया आवेदन

पशुपालन स्टार्टप – बड़ी चुनौती योजना के लिए आवेदन स्टार्टप इंडिया पोर्टल पर 11 सितम्बर 2019 से 15 नवम्बर 2019 तक खुली थी | इस योजना के अंतर्गत 6 अलग–अलग क्षेत्रों में कुल 157 आवेदन प्राप्त हुए हैं जो इस प्रकार है :- 

क्र. संख्या
समस्या का विवरण
आवेदनों की संख्या

1.

मूल्य वर्धित उत्पादन

13

2.

एकल उपयोग प्लास्टिक विकल्प

22

3.

दूध में मिलावट खत्म करना

22

4.

उत्पाद पता लगाने की क्षमता

16

5.

ई – कामर्स समाधान

44

6.

नस्ल सुधार और पशु पोषण

40

 

कुल

157

इन सभी 6 क्षेत्रों में विजेता इस प्रकार है

157 आवेदनों की पूर्व जांच की गई ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आवेदकों द्वारा प्रदान की गई जानकारी कार्यक्रम के लिए आवेदन के मानदंडों को पूरा करती है | मूल्याङ्कन के पहले दौर में कुल 42 स्टार्टप को शार्टलिस्ट किया गया था | इन स्टार्टप को एक विशेषज्ञ पेनल के सामने वीडियों कांफ्रेंसिंग पर अपने आईडिया प्रस्तुत करने का अवसर दिया गया था | जिसमें पशुपालन विभाग और डेयरी विभाग (डीएचडी) के सचिव श्री अतुल चतुर्वेदी के नेतृत्व में विभाग के सदस्य शामिल थे | इस प्रतियोगिता में दो दिनों तक सवाल जवाब चलता रहा इसके बाद सभी 6 क्षेत्रों में विजेता कि घोषणा किया गया है जो इस प्रकार है :-

यह भी पढ़ें   किसान पॉली हाउस एवं शेड नेट हाउस सब्सिडी के लिए आवेदन करें

मूल्य वर्धित उत्पाद

  1. विजेता :- कृषक मित्र एग्रो सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, (मुम्बई)
  2. रनर अप – स्टूडियो कार्बन (अहमदाबाद)

दूध में मिलावट खत्म करना

  1. विजेता :- व्हाइट गोल्ड टेक्नोलांजी एलएलजी (मुम्बई)
  2. रनर अप :- माइक्रो लाइफ इनोवेशन्स (चेन्नई)

नस्ल सुधार

  1. विजेता :- एडिस टेक्नोलाँजीज , बेलगाव (कर्नाटक)
  2. रनर अप :- सिसजेन बायोटेक डिस्कवरीज प्राइवेट लिमिटेड (हैदराबाद)

पशु पोषण

  1. विजेता :- कृमांशी टेक्नोलाँजीज प्राइवेट लिमिटेड (जोधपुर)
  2. रनर अप :- काँरनैक्ट एग्री प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड (चेन्नई)

ई – कामर्स समाधान

  1. विजेता :- मुफार्म गुरुग्राम (हरियाणा)
  2. रनर अप :- एकेएम टेक्नोलाँजीज प्राइवेट लिमिटेड (कटक)

उत्पाद पता लगाने की क्षमता

  1. विजेता :- इमरटेक सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड (मुम्बई)
  2. रनर अप :- नेबुलएआरइ टेक्नोलाजीज प्राइवेट लिमिटेड (दिली)
एकल उपयोग प्लास्टिक विकल्प

इस क्षेत्र में किसी भी स्टार्टअप को उपयुक्त नहीं पाया गया है |

विजेता तथा उप विजेता को इतना राशी दिया गया है 

इस प्रतियोगिता में सभी क्षेत्रों में विजेता तथा नगद राशि प्रदान किया गया है | विजेता को 10 लाख रूपये तथा उप विजेता (रनर अप) को 7 लाख रुपया दिया गया है |

चयनित स्टार्टअप को सरकार इस प्रकार सुविधा प्रदान करेगी

उपरोक्त में जिन 12 स्टार्टअप का जिक्र प्रति समस्या विवरण में किया गया है उन्हें 1,02,00,000 रूपये के बराबर अनुदान राशि दी जाएगी | विजेताओं को इनक्युबेशन आँफर प्रदान किया जाएगा – इनक्युबेटर 3 माहीने तक इन स्टार्टअप्स के फिजिकल इनक्यूबेशन के लिए जिम्मेदार होगा | कार्यक्रम पूरा होने के बाद 9 महीने तक मेंटर मैचमेकिंग, पीओसी डेवलपमेट के लिए लेब की सुविधा, टेस्टिंग फैसिलिटीज, बिजनेस और इंवेस्टर वर्कशाप के संचालन और स्टार्टअप्स की गतिविधियाँ पर नजर रखी जाएगी

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

20 COMMENTS

    • सर जिस का बिजनेस करना है उसके सजीले के विभाग में सम्पर्क करें प्रोजेक्ट करें |

    • अपने जिले या ब्लॉक के पशु चिकित्सालय या पशुपालन विभाग में सम्पर्क करें

    • सर प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करें | अपने जिले या ब्लाक के पशुपालन या पशु चिकित्स्लय में सम्पर्क करें |

  1. सर मैं बकरी पालन करना चाहता हूँ इस के लिए क्या करे

  2. यूपी 27 12 07, डिस्ट्रिक्ट बलरामपुर संजय मनरेगा मजदूर जॉब कार्ड संख्या 167 मैं एक मजदूर हूं मैं गाय और भैंस पालना

    • पाने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क करें |

  3. पशु हरा चारा के लिए कुआ खोदने के लिऎ राजस्थान एवंम केंद्र सरकार द्वारा अनुदान किस प्रकार एवंम कितना मिलेगा।

    • सर वर्ग के अनुसार रहता है, आप अपने जिले के कृषि विभाग में या अपने यहाँ के सिंचाई विभाग में सम्पर्क करें

  4. पशु गोबर प्रोसिंग युनिट लगाने के लिए। राजस्थान सरकार एवंम केंद्र सरकार कि योजनाए एवंम अनुदान सहायता राशी ।

    • प्रोजेक्ट बनायें, अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय में या जिले के पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

  5. सर मैं डेरी फार्म खोलना चाहता हूं लोन कहा से मिलेगा

    • लोन तो बैंक से ही लेना होगा | आप प्रोजेक्ट बनायें | अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिला पशुपालन विभाग में सम्पर्क करें |

    • सर प्रोजेक्ट बनायें, अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिला पशुपालन विभाग में सम्पर्क करें | यदि आवेदन अप्रूव होता है तो बैंक से लोन हेतु आवेदन करें |

  6. SIR
    मुझे बकरी पालन करना है
    कृपया इस बारे में मुझे कुछ जानकारी
    प्रदान करने की कृपा करें।।
    अजीत यादव
    जिला देवरिया उत्तर प्रदेश
    मोबाइल नंबर
    8130017302

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here