सितम्बर माह में पशुधन सम्बन्धित कार्य

1990

सितम्बर माह में पशुधन सम्बन्धित कार्य

  • गाय व भैस को टो में आने के 12 से 18 घंटे के अन्दर गाभिन करवाने का उचित समय है |
  • दुधारू पशुओं में थैनेला रोग से बचाव के उपाय करें |
  • पशुओं को अन्त:परजीवी नाशक दवाई पशु – चिकित्सक की सलहा अनुसार नियमित दें |
  • बरसीम की पहली बिजाई इस माह के अन्तिम सप्ताह में शुरू करें |
  • बरसीम की पहली काट से अधिक चारा लेने के लिए सरसों की (चाइनीज कैबीज) किस्म या जई मिलाकर बिजाई करें |
  • बरसीम के साथ राई घास मिला कर बिजाई करने से हरे चारे की पौष्टिकता व ऊपज में वृद्धि होती है |
  • बरसीम फसल से अधिक उपज व लम्बी अवधि तक (मध्य जून) तक हरा चारा प्राप्त करने के लिए उन्नत किस्मों BL- 10, BL- 22 व BL- 42 की बिजाई करें |
  • बरसीम की बिजाई नये खेत में करनी हो तो बीज को राईजोबियम कल्चर से उपचारित करने पर अधिक हरा चारा प्राप्त किया जा सकता है |
  • बैल बनाने के लिए छ: मास की आयु होने पर बछड़े को बधिया करवायें |
यह भी पढ़ें   इस तरह बनायें दस दुधारू पशुओं के लिए लोन पर सब्सिडी लेने के लिए प्रोजेक्ट

पिछला लेखपशुओं में थनैला रोग एवं उसकी रोकथाम किस प्रकार करें किसान भाई
अगला लेखलोबिया (दलहनी चारा) की खेती किस प्रकार करें किसान भाई 

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.