वर्तमान अफीम नीति के मापदंडों में संशोधन

0
1601

वर्तमान अफीम नीति के मापदंडों में संशोधन

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने केन्द्र सरकार से प्रदेश के अफीम काश्तकारों की समस्याओं का समाधान करने, सरकार की अफीम नीति में बदलाव और राजस्थान में अफीम के लिए प्रोसेसिंग युनिट लगाने का आग्रह किया है।

श्रीमती राजे ने केन्द्रीय वित्त मंत्री को बताया कि केन्द्र की अफीम नीति 2017-18 मे अफीम की खेती में औसत उपज प्रति हैक्टेयर 56 किलो को अनिवार्य बनाया गया है, लेकिन राज्य के झालावाड़ और बारां जिलों में इसका औसत 49 से 52 किलो प्रति हैक्टेयर ही आता है। इस कारण अधिकतर किसान आगामी सीजन में अफीम खेती का लाईसेंस प्राप्त करने के अयोग्य हो जाते हैं। उन्होंने वर्तमान मापदंडों में संशोधन करने की मांग की ताकि राजस्थान के अफीम काश्तकारों को नुकसान नही हो।

राजस्थान में आधुनिक अफीम प्रोसेसिंग फैक्ट्री लगवाने का आग्रह भी किया। उन्होंने बताया कि राजस्थान अफीम उत्पादन में अग्रणीप्रदेश है, लेकिन मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की तरह यहां एक भी अफीम प्रोसेसिंग फैक्ट्री नहीं है।

यह भी पढ़ें   कोरोना संकट: एक महीने में किसानों दिए जाएंगे फसल बीमा के 700 करोड़ रुपये, होगा खरीफ फसलों के बीजों का वितरण

राज्य सरकार प्रदेश में आधुनिक तकनीक और सुविधाओं से युक्त अफीम प्रोसेसिंग फैक्टरी के लिए भूमि सहित सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए भी तैयार है।

यह भी पढ़ें:  अफीम नीति में बदलाव में किया जाये

यह भी पढ़ें:  मवेशियों की खरीद-फरोख्त के संबंध में केंद्र सरकार के नये नियम

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here