राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को दी जानें वाली सहयता

0
प्रतीकात्मक चित्र

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को दी जानें वाली सहयता

  • प्रमाणित उन्नत किस्म के बीज वितरण हेतु सहायता 500 रुपये प्रति क्विंटल या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • चावल के संकर बीज वितरण हेतु सहायता 200 रुपये प्रति क्विंटल या 50   प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • चावल के संकर बीजों के उत्पादन हेतु सहायता 1 हजार रुपये प्रति क्विंटल।
  • सूक्ष्म पोषक तत्वों के लिए सहायता 500 रुपये प्रति हेक्टेयर या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • अम्लीय मिट्टी में चूना डालने के लिए सहायता 500 रुपये प्रति हेक्टेयर या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • कोनोवीडर और अन्य उपकरणों के लिए सहायता 3 हजार रुपये या इन उपकरणों की लागत का 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • जीरो टिल सीड ड्रिल/ विभिन्न फसल रोपने की मशीन /सीड ड्रिल/पावर वीडर की खरीद के लिए उपकरण 15 हजार रुपये या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हो।
  • रोटावेटर की खरीद के लिए 30 हजार रुपये या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • नैपसैक स्प्रेयर की खरीद के लिए 3 हजार रुपये या मूल्य के 50 प्रतिशत प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • पौधों की सुरक्षा हेतु रासायनिक खाद के लिए 500 रुपये प्रति हेक्टेयर या मूल्य के 50 प्रतिशत तक सहायता, इनमें से जो भी कम हों।
  • अभ्यास या कार्य-प्रणाली, संकर चावल और श्री (एसआरआई) के उन्नत पैकेज पर क्षेत्रों का दौरा आयोजित करने का प्रावधान।
  • किसान, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत आयोजित किये जाने वाले फार्मर्स फील्ड स्कूल में भी भाग ले सकते हैं।
यह भी पढ़ें   कम लागत में भंडार गृह भंडार गृह बनाकर उनका भण्डारण इस तरह करें
Previous articleक्या आपके फसल में यह कीट है ?
Next articleनाबार्ड द्वारा चलाई जा रही डेयरी उद्यमिता विकास योजना (डीईडीएस )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here