राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय हर्बल मेला

0
1370
views
प्रतीकात्मक चित्र

राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन एवं अंतर्राष्ट्रीय हर्बल मेला

भोपाल में दो दिवसीय राष्ट्रीय कृषि व्यापार सम्मेलन 9 एवं 10 दिसम्बर को भदभदा रोड बरखेड़ी कलां स्थित राज्य कृषि विस्तार एवं प्रशिक्षण संस्थान में होगा। किसान कल्याण मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन कृषि व्यापार सम्मेलन का शुभारंभ 9 दिसम्बर को प्रात: 11 बजे करेंगे। उद्धाटन सत्र में सहकारिता राज्य मंत्री श्री विश्वास सांरग भी मौजूद रहेंगे।

केन्द्र और राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप किसानों की आय दोगुनी करने और कृषि योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये रणनीति बनाने के लिये राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। सम्मेलन में कृषि क्षेत्र में युवाओं द्वारा लगाई जाने वाली इकाईयों, खाद्य प्र-संस्करण इकाईयों के संबंध में भी मार्गदर्शन दिया जायेगा। सम्मेलन में कृषि क्षेत्र से जुड़े अधिकारी, कृषि विश्वविद्यालय के अधिकारी और कृषि वैज्ञानिक भी शामिल होंगे।

अंतर्राष्ट्रीय हर्बल मेला 14 से 20 दिसम्बर तक

भोपाल में 14 से 20 दिसम्बर, 2017 तक अंतर्राष्ट्रीय हर्बल मेले का आयोजन किया जा रहा है। केन्द्रीय वन, जलवायु परिवर्तन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन 14 दिसम्बर की शाम 5 बजे लाल परेड ग्राउण्ड पर 7 दिवसीय मेले का शुभारंभ करेंगे। मेले का समापन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे। कार्यक्रम में वन मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार, सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सारंग और वन राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें   सरकार सब्सिडी पर दे रही है 76 प्रकार के कृषि यंत्र

राज्य लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मेले में श्रीलंका, भूटान, नेपाल, मलेशिया और देश के बिहार, आसाम, उत्तराखण्ड, दिल्ली, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों के प्रतिभागी भाग लेंगे। मेले में प्रदेश के विभिन्न जिलों से संग्रहित की गई दुर्लभ जड़ी-बूटियों के 300 स्टॉल लगेंगे। सुदूर अंचलों की वनोपज समितियों के संग्राहक विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटी एवं वनौषधि का प्रदर्शन एवं विक्रय करेंगे। क्रेता-विक्रेता सम्मेलन, लघु वनोपज संरक्षण एवं विपणन पर आधारित कार्यशाला और आयुर्वेद चिकित्सा शिविर भी होंगे। वन मेला विभिन्न प्रकार की वनौषधि की सहज उपलब्धता के कारण भोपालवासियों में काफी लोकप्रिय है। मेले में हर शाम सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here