राजमा की नई उन्नत किस्मों से किसान भाई बढ़ाएं उत्पादन

2

राजमा की नई उन्नत किस्मों से किसान भाई बढ़ाएं उत्पादन

  1. वीएल-63-राजमा की यह प्रजाति भूरा चित्तीदार होती है। 115 से लेकर 120 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी उपज भी प्रति हेक्टेयर 25 से लेकर 30 कंतल होती है।
  2. अम्बर-राजमा की यह प्रजाति लाल चित्तीदार होती है। यह 20 से लेकर 25 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी उपज 20 से लेकर 25 कुंतल प्रति हेक्टेयर होती है।
  3. उत्कर्ष- गहरा लाल चित्तीदार रंग की यह प्रजाति 130 से 135 दिन में तैयार हो जाती है। प्रति हेक्टेयर 20 से लेकर 25 कुंतल इसकी उपज होती है।
  4. पी.डी.आर.-14 (उदय) राजमा की लाल चित्तीदार रंगी प्रजाति है। 125 से लेकर 130 दिनों में यह तैयार हो जाती है। प्रति हेक्टेयर 30 से लेकर 35 कुंतल इसकी पैदावार होती है।
  5. मालवीय-15- सफेद रंगी राजमा की यह प्रजाति 115 से लेकर 120 दिन में तैयार हो जाती है। प्रति हेक्टेयर 25 से लेकर 30 कुंतल इसकी पैदावार होती है।
  6. मालवीय-137- राजमा की यह प्रजाति लाल रंगी की होती है, जो 110 से लेकर 115 दिन में तैयार हो जाती है। प्रति हेक्टेयर 25 से लेकर 30 कुंतल इसकी उपज होती है।
यह भी पढ़ें   उच्च पैदावार देने वाली चने की दो नई किस्मों का हुआ विमोचन

बैंगन की उन्नतशील किस्में, लगाने का समय, उपज की अवधि एवं उससे होने वाली आय

Previous articleसही जानकारी को अपनाकर मसूर पैदावार बढ़ावें |
Next articleगेहूँ में उत्पादन वृद्धि हेतु ‘पीला रतुआ’ तथा ‘करनाल-बन्ट’ रोग के प्रबन्धन की रणनीति

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here