डेयरी विकास कार्ड योजना

6
4678
views

डेयरी विकास कार्ड योजना

उद्देश्य : अच्छी नसल के दुधारू पशुओं की खरीद के लिए, पशुओं के रहने के लिए छज्जों के निर्माण, कार्यशील पूंजी मदों की खरीद जैसे कि डेयरी फीड, पशु चिकित्सा औषधियाँ, चारा,  डेयरी उपकरण या अन्य उपकरणों की खरीद ।

जारी करने वाला बैंक:- पंजाब नेशनल बैंक

पात्रता : भूमि रहित कृषि श्रमिक या किसान / कोई भी व्यक्ति जिसे दुधारू पशुओं को रखने का अनुभव हो  ।

मार्जिन : शून्य

कार्ड का टाईप : पीएनबी डेयरी विकास कार्ड ।

कार्ड की वैधता : 5 वर्ष

ऋण सीमा :  100,000/- रुपये

ऋण सीमा का निर्धारण

(i) उत्पादन ऋण    :    कुल सीमा का 25%

(ii) निवेश ऋण      :    ऋण सीमा का न्यूनतम 75%

ऋण का वितरण : किसान की ज़रूरत के अनुसार ऋण का वितरण विभिन्न चरणों में किया जाएगा । ऋण सुविधा कार्ड जारी करने वाली शाखा से प्राप्त की जाएगीद्न ।

ऋण का पुनर्भुगतान : निवेश ऋण 5 वर्षों में चुकाया जायेगा ।  निवेश ऋण को वार्षिक आधार पर संमिश्र नकद ऋण सीमा को कम करते हुए 5 वर्षों में चुकाया जायेगा । खाते में किश्तें मासिक/तिमाही आधार पर चुकाई जायेंगी ।

यह भी पढ़ें   भैंसों से दुग्ध उत्पादन किस प्रकार बढ़ाएं एवं कम करें ब्याने की उम्र

नई भैंस खरीदना / मौजूदा भैंस को बदलना

उद्देश्य : आवेदकों को नई भैंसों की खरीद मौजूदा भैंसों को बदलकर नई भैंस खरीदने की अनुमति है बशर्ते खाते का संचालन पिछले एक वर्ष में संतोषजनक हो । यह सुविधा तीसरे वर्ष तक दी जाएगी ।

कार्यक्षेत्र : प्रारम्भिक रूप में  यह  योजना पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, गुजरात तथा महाराष्ट्र में लागू है ।

अधिक जानकारी के लिए किसान भाई नजदीकी पंजाब नेशनल बैंक में संपर्क करें

यह भी पढ़ें स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ‘’एसबीआई कृषक उत्थान योजना” के तहत कृषकों को दिया जाने वाला ऋण

यह भी पढ़ें: डेयरी उद्योग हेतु  जानें भैंस की प्रमुख नस्लें, विशेषताएं एवं आय/व्यय की जानकारी

 

6 COMMENTS

    • सर आप नजदीकी बैंक ऑफ़ इंडिया एवं नाबार्ड में संपर्क करें

  1. बैकं वाले तारीख निकल गई बोल कर मना कर देते है डयरी करने के लिए कोई तारीख होती है क्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here