टमाटर की फसल में इस दवा से कीटों पर नियंत्रण पायें

2
10060

टमाटर की फसल में इस दवा से कीटों पर नियंत्रण पायें

किसान भाई अगर आप टमाटर की खेती कर रहें हैं तो आप को टमाटर के फसल को विभिन्न रोगों से बचाना होगा | इस में कुछ रोग एसे है जो पत्ती को नष्ट कर देते है तथा तने में छेड़ कर देते है तथा कुछ रोग एसे हैं जो फल में छेड़ कर देते है | इन सब रोगों पर नियंत्रण के लिए किसान समाधान आप के लिए जानकारी ले कर आया है |

टमाटर के प्रमुख कीट माहो, हरा फुदक, सफ़ेद मक्खी, फल छेदक कीट एवं तम्बाकू की इल्ली के नियंत्रण हेतु ईमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. , 150 मी.ली. /हैं अथवा डायमेंथोयेट 30 ई.सी., 0.03 % अथवा मिथाईल डिमेटान 25 ई.सी., 0.05 % का छिडकाव करें |

फल छेदक कीट को नियंत्रण हेतु कार्बोरिल 50 डब्लू . पी. , 1.5 किलो ग्राम / है. या फोसेलान 35 ई.सी. 1000 मि.ली./ है. का छिडकाव करें |

यह भी पढ़ें: टमाटर में फल कम आने का कारण

यह भी पढ़ें:टमाटर का विपुल उत्पादन किस प्रकार करें

यह भी पढ़ें:“प्लग ट्रे” सब्जी उत्पादन की आधुनिक तकनीकी

यह भी पढ़ें   चोटी बेधक (टाप सूट बोरर) कीट

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here