गेंहू की बुआई से पहले भूमि और बीज बुआई के बारे में जरुर जाने

0
1619

गेंहू की बुआई से पहले भूमि और बीज बुआई के बारे में जरुर जाने

भूमि की तैयारी – एक गहरा हल चलाने के बाद देसी हल से 1 – 2 बार जुताई करें ताकि खेत अच्छी तरह से तैयार हो जाए | मिटटी के ढेलों को अच्छी तरह तोड़ देना चाहिए | विभिन्न प्रकार की मृदाओं में भूमि की तैयारी निम्नानुसार करनी चाहिए |

हल्की मिटटी :-

  • सबसे अच्छे गेंहू उत्पादक क्षेत्र वो है जंहा ठंडा और सुखा मौसम फसल के समय रहता है |
  • गर्म व नमी युकत क्षेत्र इस फसल के लिए उपयुक्त नहीं हैं |
  • रेतीली चिकनी मिटटी सबसे उपयुक्त मिटटी है |
  • एक बार गहरी जुताई करें और फिर दो बार बखर चलकर भूमि को भुरभुराकर लें |
  • हर साल खेत को दो या तिन बार बखर चलाकर भुर भुराकर लें और पट्टा या लेवलर लगाकर भूमि को समतल कर लें |

मध्यम मिटटी :-

  • दो से तिन साल में दो बार गहरी जुताई करके मिटटी पलटाना चाहिए फिर दो से तिन बखर चलाकर भूमि को भुरभुराकर ले और हर साल भूमि को समतल कर ले |

भारी मिटटी :-

  • चिकनी मिट्टी सबसे उपयुक्त मिटटी है |
  • दो बार गहरी जुताई करके मिट्टी पलटाना चाहिए फिर दो से तिन बखर चलाकर भूमि को भुरभुरा कर लें भूमि को समतल कर लें |
  • असिंचित अवस्था में मिट्टी की नमी को सुरक्षित करने के लिए उपयुक्त उपाय करना चाहिए और भुमी को भुरभुरा करने के बाद खेत को समतल कर लें |

बुआई का तरीका :-

गेंहू की बीजाई 22 से.मी. दूरी की कतारों में की जाती है | बीज को 5 से.मी. से अधिक गहरा नहीं डालना चाहिए |

बीज दर :-

  • पंक्ति बोनी के लिए बीज दर 90 – 100 कि.ग्रा. / हैक्टेयर है |
  • सीडड्रिल से बोनी के लिए 80 – 100 की प्रति हैक्टेयर है |
  • गडढे बनाकर बोनी के लिए बीज दर 25 30 कि.ग्रा. प्रति हैक्टेयर है |
  • असिंचित किस्मों के लिए उपयुक्त बीज दर 100 कि.ग्रा. प्रति हैक्टेयर है |
  • असिंचित देर से बोई किस्मो के लिए उपयुक्त बीज दर 125 कि.ग्रा. प्रति हैक्टेयर है |
  • सिंचित किस्मों के लिए उपयुक्त बीज दर 100 कि.ग्रा. प्रति हैक्टेयर है |

यह भी पढ़ें: श्री विधि से करें गेंहूँ की लाभकारी खेती

यह भी पढ़ें: रबी फसल: बुआई से पूर्व रखें इन बातों का ध्यान..

Previous articleइस किसान ने प्लास्टिक मल्चिंग विधि अपनाकर खेती को बनाया लाभ का धंधा
Next articleधान की फसल के बाद गेंहू की फसल लगाने हेतु इन बातों का रखें ध्यान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here